Top 100 Romantic Shayari in Hindi 2019 {100% Unique & Fresh}



Romantic Shayari in Hindi 2019 - If you are searching for beautiful lovely and Romantic Shayari in Hindi 2019. You will get everything in the Hindi language. We have created only unique and fresh.

Romantic Shayari in Hindi 2019

Romantic Shayari in Hindi 2019


1. दिल की बातों को आज कहना है तुमको,  धड़कन बनके तेरे दिल में रहना है हमको, कही रुक ना जाए यह मेरी साँसें, इसलिए हर पल तेरे साथ जीना है हमको|

2. जरा छू लूं तुमको मुझको यकीन आ जाए, लोग कहते हैं कि मुझे साए से मोहब्बत है|

3. मेरा हर लम्हा चुराया आपने, आँखों को एक ख्वाब दीखाया आपने, हमें ज़िंदगी दी किसी और ने, पर प्यार में जीना सिखाया आपने|

4. ज़िन्दगी तुम मेरी बन जाओ रब से और क्या माँगू, जीने की वजह बन जाओ बस ये ही दुआ माँगू|

5. हम आपके प्यार में कुछ ऐसा कर जायेंगे, बन कर खुशबू इन हवाओं में बिखर जायेंगे, भुलाना अगर चाहो तो साँसों को रोक लेना, वरना साँस भी लोगे तो दिल में उतर जायेंगे|

6. तूने छुआ मेरी रूह को, कुछ इस तरह, कि सदियों तक वो तेरी ग़ुलाम बन गई|

7. ख़ुदा महफूज़ रखें आपको तीनों बलाओं से| वकीलों से, हक़ीमों से, हसीनों की निगाहों से|

8. ईश्क की गहराईयो में खूब सूरत क्या है, मैं हूं, तुम हो, और कुछ की जरूरत क्या है|

9. उलझा रही है मुझको, यही कश्मकश आजकल, तू आ बसी है मुझमें, या मैं तुझमें कहीं खो गया हूँ|

10. सौ बार मरना चाहा उनकी निगाहों में डूब के, वो हर बार निगाहें झुका लेते हैं, मरने भी नहीं देते हैं|

11. अच्छा लगता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ| जैसे कोई सुबह जुड़ी हो किसी हसीन शाम के साथ|

12. तुम्हारे नाम को होंठों पर सजाया है मैंने, तुम्हारी रूह को अपने दिल में बसाया है मैंने, दुनिया आपको ढूंढते ढूंढते हो जायेगी पागल, दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैंने|

13. ज़्यादा कुछ नही बस तेरा साथ चाहिए| जमाने को जलाने के लिए बस इतना ही काफ़ी है|

14. बदनाम करते हैं लोग मुझे जिसके नाम से| क़सम खुदा की जी भर के कभी उसको देखा भी नही|

15. चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है, याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है|

16. ऐ शख्स तेरा साथ मुझे हर शक्ल में मंज़ूर है, यादें हों कि खुशबू हो, यक़ीं हो कि ग़ुमान हो|

17. मैं कुछ न कहूँ और ये चाहूँ कि मेरी बात, खुशबू की तरह उड़ के तेरे दिल में उतर जाए|

18. हजारों चेहरों में एक तुम ही पर मर मिटे हैं वरना, ना चाहतों की कमी थी और ना चाहने वालों की|

19. खुदा करे वो मोहब्बत जो तेरे नाम से है, हजार साल गुजरने पे भी जवान ही रहे|

20. कुछ यूँ उतर गए हो मेरी रग-रग में तुम, कि खुद से पहले एहसास तुम्हारा होता है|

21. महका सा दिन महकती सी रात आए, तुम कहो तो खुशबू सी कोई बात|

22. लत तेरी ही लगी है, नशा सरेआम होगा, हर लम्हा जिंदगी का सिर्फ तेरे नाम होगा|

23. तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा, कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है|

24. किस किस तरह छुपाऊं अब मैं तुम्हें, मेरी मुस्कान में भी तुम नजर आने लगे हो|

25. तेरे रुखसार पर ढले हैं मेरी शाम के किस्से, खामोशी से माँगी हुई मोहब्बत की दुआ हो तुम|

26. न जाने किस तरह का इश्क कर रहे हैं हम, जिसके हो नहीं सकते उसी के हो रहे हैं हम|

27. मोहब्बत की कहूँ देवी या तुमको बंदगी कह दूँ, बुरा मानो न गर हमदम तो तुमको ज़िन्दगी कह दूँ|

28. मेरी तकदीर संवर जाये उजालों की तरह, आप मुझे चाह लें अगर चाहने वालों की तरह|

29. जिंदगी बहुत खूबसूरत है सब कहते थे, जब तुम्हें देखा यकीन मुझको हो गया|

30. धोखा ना देना कि तुझपे ऐतबार बहुत है, ये दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है, तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नहीं देता, हम क्या करें कि तुझसे हमें प्यार बहुत है|

31. कभी दोस्ती कहेंगे कभी बेरुखी कहेंगे, जो मिलेगा कोई तुझ सा उसे ज़िन्दगी कहेंगे, तेरा देखना है जादू तेरी गुफ़्तगू है खुशबू, जो तेरी तरह चमके उसे रोशनी कहेंगे|

32. चुराकर दिल मेरा वो बेखबर से बैठे हैं, मिलाते नहीं नजर हमसे अब शरमाये बैठे हैं, देख कर हमको छुपा लेते हैं चेहरा आँचल में, अब घबरा रहे हैं कि वो क्या कर बैठे हैं|

33. काश एक ख्वाहिश पूरी हो इबादत के बगैर, वो आके गले लगा ले मेरी इजाजत के बगैर|

34. मैं वक़्त बन जाऊं तू बन जाना कोई लम्हा, मैं तुझमें गुजर जाऊं तू मुझमें गुजर जाना|

35. आखिरी साँसों पे मैंने तेरा नाम लिख दिया, तेरी मर्ज़ी के बिना अब छू नहीं सकता कोई|

36. अब आ गए हो आप तो आता नहीं कुछ याद, वरना कुछ हमको आप से कहना ज़रूर था|

37. सजा है मौसम तुम्हारी महक से आज फिर, लगता है हवायें तुम्हें छू कर आयी हैं|

38. सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा, जितना देखेंगे तुम्हें उतना ही प्यार आएगा|

39. इज़हार ए तमन्ना ही तौहीन ए तमन्ना है, तुम खुद ही समझ जाओ मैं नाम नहीं लूँगा|

40. तुम्हारी खुशियों के ठिकाने बहुत होंगे मगर, हमारी बेचैनियों की वजह बस तुम हो|

41. रोज वो ख़्वाब में आते हैं गले मिलने को, मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है किस्मत मेरी|

42. किताब ए दिल में भी रखा तो ताज़गी ना गई, तेरे ख़याल का जलवा गुलाब जैसा है|

43. तुझे अकेले ही पढ़ूं कोई हमसबक न रहे, मैं चाहता हूँ तुझ पर किसी का हक न रहे|

44. ना समेट सकोगे क़यामत तक जिसे तुम, कसम तुम्हारी तुम्हें इतनी मोहब्बत करते हैं|

45. आप जब तक रहेंगे आंखों में नजारा बनकर, रोज आएंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर|

46. अच्छा लगता हैं तेरा नाम मेरे नाम के साथ, जैसे कोई खूबसूरत जगह हो हसीन शाम के साथ|

47. आँखों में आँखें डालकर तुम्हारा दीदार, ये कशिश बयाँ करना मेरे बस की बात नही|

48. मेरी बाँहों में बहकने की सज़ा भी सुन ले, अब बहुत देर में आज़ाद करूँगा तुझ को|

49. तुम मुझे कभी दिल से कभी आँखों से पुकारो, ये होठों के तकल्लुफ तो ज़माने के लिए होते हैं|

50. हम भी मौजूद थे तकदीर के दरवाजे पे, लोग दौलत पर गिरे और हमने तुझे माँग लिया|

51. चलो उस मोड़ से शुरू करें फिर से जिंदगी, हर शय हो जहाँ नई सी और हम हो अज़नबी|

52. जादू वो लफ़्ज़ लफ़्ज़ से करता चला गया, मीठा नश्तर था दिल में उतरता चला गया|

53. बहके बहके ही अंदाज-ए-बयां होते हैं, जब आप होते हैं तो होश कहाँ होते हैं|

54. मुझको फिर वही सुहाना नजारा मिल गया, इन आँखों को दीदार तुम्हारा मिल गया, अब किसी और की तमन्ना क्यूँ मैं करूँ, जब मुझे तुम्हारी बाहों का सहारा मिल गया|

55. सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो, नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो, हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर, खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो|

56. इस दिल का कहा मानो एक काम कर दो, एक बेनाम सी मोहब्बत मेरे नाम कर दो, मेरे ऊपर एक छोटा सा एहसान कर दो, एक सुबह को मिलो और शाम कर दो|

57. छू गया जब कभी ख्याल तेरा, दिल मेरा देर तक धड़कता रहा, कल तेरा ज़िक्र छिड़ गया घर में, और घर देर तक महकता रहा|

58. मेरे वजूद में काश तू उतर जाए, मैं देखूं आइना और तू नजर आये, तू हो सामने और वक्त ठहर जाए, और तुझे देखते हुए जिंदगी गुज़र जाए|

59. तुम्हारी दुनिया से जाने के बाद, हम एक तारे में नज़र आया करेंगे, तुम हर पल कोई दुआ माँग लेना, और हम हर पल टूट जाया करेंगे|

60. चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो, सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो, कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू, सोते जागते तुम ही तुम नज़र आते हो|

61. हर बार दिल से ये पैगाम आए, ज़ुबाँ खोलूं तो तेरा ही नाम आए, तुम ही क्यूँ भाए दिल को क्या मालूम, जब नज़रों के सामने हसीन तमाम आए|

62. मोहब्बत की शम्मा जला कर तो देखो, जरा दिल की दुनियाँ सजा कर तो देखो, तुम्हें हो ना जाऐ मोहब्बत तो कहना, जरा हमसे नजरें मिलाकर तो देखो|

63. चेहरे पर हंसी छा जाती है, आँखों में सुरूर आ जाता है, जब तुम मुझे अपना कहते हो, मुझे खुद पर गुरुर आ जाता है|

64. जिंदगी बन गए हो तुम मेरी, आरजू बन गए हो तुम मेरी, मेरा खुदा माफ़ करे मुझे, बंदगी बन गए हो तुम मेरी|

65. फिजा में महकती शाम हो तुम, प्यार का छलकता जाम हो तुम, सीने में छुपाये फिरते है तुम्हें, मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम|

66. छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह, कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे, मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह, कि होश भी आने की इजाज़त मांगे|

67. तेरी खुशिओं को सजाना चाहता हूँ, तुझे देखकर मुस्कुराना चाहता हूँ, मेरी ज़िन्दगी में क्या अहेमियत हैं तेरी, मैं तेरे पास आकर बताना चाहता हूँ|

68. चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो, साँसों में खुशबू बन के बिखर जाते हो, कुछ यूँ चला है आपके प्यार का जादू, सोते जागते तुम ही तुम नज़र आते हो|

69. जी चाहे कि दुनिया की हर एक फ़िक्र भुला कर, दिल की बातें सुनाऊं तुझे मैं पास बिठाकर|

70. मुझे ना सताओ इतना कि मैं रुठ जाऊं तुमसे, मुझे अच्छा नहीं लगता अपनी साँसों से जुदा होना|

71. मैंने कहा बहुत प्यार आता है तुम पर, वो मुस्कुरा कर बोले और तुम्हें आता ही क्या है|

72. दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते सनम, एक जान है जब दिल चाहे माँग लेना|

73. मेरे घर की दर ओ दीवार पर अब आइना नहीं, तेरी आँखों में ही खुद को पा लिया मैंने|

74. एक सुकून सा मिलता है तुझे सोचने से भी, फिर कैसे कह दूँ मेरा इश्क़ बेवजह सा है|

75. आपके आने से ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है, दिल में बसाई है जो वो आपकी ही सूरत है, दूर जाना नहीं हमसे कभी भूलकर भी, हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है|

76. पहले तो अपने दिल की रज़ा जान जाइए, फिर जो निगाह-ए-यार कहे मान जाइए, शायद हुजूर से कोई निस्बत हमें भी हो, आँखों में झाँककर हमें पहचान जाइए|

77. चूमना क्या उसे आँखों से लगाना कैसा, फूल जो कोट से गिर जाये उठाना कैसा, अपने होंठों की हरारत से जगाओ मुझको, यूँ सदाओं से दम ए सुबह जगाना कैसा|

78. संगमरमर के महल में तेरी तस्वीर सजाऊंगा, मेरे इस दिल में ऐ सनम तेरे ख्वाब सजाऊंगा, आजमा के देख ले तेरे दिल में बस जाऊंगा, प्यार का हूँ प्यासा तेरे आगोश में सिमट जाऊॅंगा|

79. बेवजह हम वजह ढूंढ़ते हैं तेरे पास आने को, ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को, बुझती नहीं है प्यास मेरे इस प्यासे दिल की, न जाने कब मिलेगा सुकून तेरे इस दीवाने को|

80. बदलना आता नहीं हमें मौसम की तरह, हर इक रुत में तेरा इंतज़ार करते हैं, ना तुम समझ सकोगे जिसे क़यामत तक, कसम तुम्हारी तुम्हें इतना प्यार करते हैं|

81. ख़फ़ा न होना अगर बढ़ के थाम लूँ दामन, ये दिल फ़रेब ख़ता जान कर नहीं होती, तुम्हारे आने तलक हमको होश रहता है, फिर उसके बाद हमें कुछ ख़बर नहीं होती|

82. कभी लफ्ज़ भूल जाऊं कभी बात भूल जाऊं, तूझे इस कदर चाहूँ कि अपनी ज़ात भूल जाऊं, कभी उठ के तेरे पास से जो मैं चल दूँ, जाते हुए खुद को तेरे पास भूल जाऊं|

83. मैं तमाम दिन का थका हुआ, तू तमाम शब का जगा हुआ, ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर, तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ|

84. अगर मेरी चाहतों के मुताबिक, ज़माने की हर बात होती, तो बस मैं होता तुम होती, और सारी रात बरसात होती|

85. हमदम तो साथ साथ चलते हैं, रस्ते तो बेवफा बदलते हैं, तेरा चेहरा है जब से आँखों में, मेरी आँखों से लोग जलते है|

86. हक़ीक़त ना सही तुम, ख़्वाब की तरह मिला करो, भटके हुए मुसाफिर को, चांदनी रात की तरह मिला करो|

87. तेरे सीने से लगकर तेरी आरजू बन जाऊँ, तेरी साँसो से मिलकर तेरी खुशबू बन जाऊँ, फासले ना रहें कोई तेरे मेरे दरमिआँ, मैं, मैं ना रहूँ बस तू ही तू बन जाऊँ|

88. तुझसे रुबरु होकर बातें करूँ, निगाहें मिलाकर वफ़ा के वादे करूँ, थाम कर तेरा हाथ बैठ जाऊं तेरे सामने, तेरी हसीन सूरत के नज़ारे करूँ|

89. धडकते हुए दिल का करार हो तुम, इन सजी महफिलों की बहार तो तुम, तरसती हुयी निगाहों का इंतज़ार हो तुम, मेरी जिंदगी का पहला प्यार हो तुम|

90. कुछ इस अदा से आज वो पहलू नशीं रहे, जब तक हमारे पास रहे हम नहीं रहे|

91. हमसे ना कट सकेगा अंधेरो का ये सफर, अब शाम हो रही हे मेरा हाथ थाम लो|

92. तरसेगा जब दिल तुम्हारा मेरी मुलाकात को, तब आ जायेंगे ख्वाबों मे हम उसी रात को|

93. हम फिर उनके रूठ जाने पर फ़िदा होने लगे, हमें फिर प्यार आ गया जब वो ख़फ़ा होने लगे|

94. चलो इबादत रखते हैं अपने रिश्ते का नाम, मोहब्बत को तो लोगों ने बदनाम कर दिया|

95. अपना तो चाहतों में बस यही उसूल है, जब तू कबूल है तो तेरा सब कुछ कबूल है|

96. खुद नहीं जानते कितनी प्यारे हो आप, जान हो हमारी पर जान से प्यारे हो आप, दूरियों के होने से कोई फर्क नही पड़ता, कल भी हमारे थे और आज भी हमारे हो आप|

97. लाखो की हँसी तुम्हारे नाम कर देंगे, हर खुशी तुम पे कुर्बान कर देंगे, जिस दिन हो कमी मेरे प्यार में बता देना, इस जिन्दगी को आखरी सलाम कह देंगे|

98. मंजिल भी तुम हो तलाश भी तुम हो, उम्मीद भी तुम हो आस भी तुम हो, इश्क भी तुम हो और जूनूँ भी तुम ही हो, अहसास तुम हो प्यास भी तुम ही हो|

99. छेड़ आती हैं कभी लब तो कभी रूखसारों को तुमने ज़ुल्फ़ों को बहुत सर पर चढा रखा है|

100. आ भी जाओ मेरी आँखों के रूबरू अब तुम, कितना ख्वाबों में तुझे और तलाशा जाए|

Related Tags: Romantic Shayari in Hindi 2019