Top 100 Sorry Shayari in Hindi 2019 {100% Unique & Fresh}




Sorry Shayari in Hindi 2019 - If you are searching for sorry shayari in hindi language with hindi fonts than you are at correct page. Do check out the collection and pick best as per your choice and share.


Sorry Shayari in Hindi 2019

Sorry Shayari in Hindi 2019


1. हमसे कोई खता हो जाये तो माफ़ करना, हम याद न कर पाएं तो माफ़ करना, दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं, पर ये दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना|

2. तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी, तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी, क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर, जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी|

3. नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे, अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे, कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते, गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते|

4. खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो, दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो, देर हो गयी याद करने में जरूर, लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो|

5. बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से, हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से, तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले, कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से|

6. हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया, आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया, हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में, क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया|

7. हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें, कौन है जो आयेगा हमें मनाने के लिए, हो सकता है तरस आ भी जाये आपको, पर दिल कहाँ से लायें आपसे रूठ जाने के लिये|

8. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

9. एक ज़रा सी भूल खता बन गयी, मेरी वफ़ा ही मेरी सजा बन गयी, दिल लिया और खेल कर तोड़ दिया उसने, हमारी जान गयी और उनकी अदा बन गयी|

10. न चलता है दिल पर जोर कोई, यह खुद की ही मर्जी चलाता है, करता है खटाएं कैसी कैसी, और बदले में हमें रुलाता है|

11. बड़ी मुश्किल से संभले हैं टूट जाने के बाद, हम आज भी रो देते हैं मुस्कुराने के बाद, आपसे मोहब्बत थी कभी बेइन्तेहाँ हमें, मगर अहसास हुआ आपसे बिछड़ जाने के बाद|

12. इस कदर मेरे प्यार का इम्तेहान न लीजिये, खफा हो क्यूँ मुझसे यह बता तो दीजिये, माफ़ कर दो गर हो गयी हो हमसे कोई खता, पर याद न करके हमें सजा तो न दीजिये|

13. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

14. धड़कन बनके जो दिल में समा गए हैं, हर एक पल उनकी याद में बिताते हैं, आंसू निकल आये जब वो याद आ गए, जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते हैं|

15. कर देना माफ़ हम को दिल से अगर तोडा हो कभी दिल ज़िन्दगी किया भरोशा कल कफ़न में लिपटा मिले तुम को ये दोस्त तुम्हारा|

16. इश्क की नगरी में माफ़ी नहीं किसी को भी इश्क उमर नहीं देखता बस उजाड़ देता है|

17. खता हो गई हो तो सजा भी सुना दो, दिल में इतना दर्द क्यू है वजह भी बता दो, देर हो गई याद करने में ज़रूर लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से निकाल दो|

18. दर्द हो दिल में तो दुवा कीजिये दिल ही जब दर्द हो तो क्या कीजिये, हम को फ़रियाद करनी आती है आप सुनते ही नही तो क्या कीजिये|

19. उससे ज़रूर माफ़ी मांगो जिससे तुम चाहते हो, उसे मत छोड़ो जो तुम्हें चाहता है उस से कुछ न छुपाओ जो तुम पे ऐतबार करे|

20. देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से, मालूम नहीं आज वो किस किस से लड़े है|

21. न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता, जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता|

22. रूठ कर कुछ और भी हसीन लगते हो, बस यही सोच कर तुम को खफा रखा है|

23. तुझे मनाऊँ कि अपनी अना की बात सुनूँ, उलझ रहा है मेरे फ़ैसलों का रेशम फिर|

24. निकला करो इधर से भी होकर कभी कभी, आया करो हमारे भी घर पर कभी कभी, माना कि रूठ जाना यूँ आदत है आप की, लगते मगर हैं अच्छे ये तेवर कभी कभी|

25. दुसरो को इतनी जल्दी माफ़ कर दिया करो, जितनी जल्दी आप उपरवाले से अपने लिए माफ़ी की उम्मीद रखते हो|

26. आज एक वादा करते हैं तुमसे, मेरे लिए अब कोई नहीं ज्यादा है तुमसे, माफ़ कर दो जो रुसवा किया तुमको, गलती हमारी थी जो खुद से जुड़ा किया तुमको|

27. भूल से भूल को भुला दो जरा, आशिक आपके है गले से लगा लो जरा, फिर ना करेंगे नाराज़ आपको, अब तो थोडा मुस्कुरा दो जरा, सॉरी बेबी|

28. चुप रहते है हम की कोई खफा ना हो जाये, हमसे कोई रुसवा ना हो जाये, बड़ी मुश्किल से कोई अपना बना है, डर लगता है कही वो भी जुदा ना हो जाये, अगर मैंने कुछ गलती कि हो तो माफ़ कर दो|

29. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

30. तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी, तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी, क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर, जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहे|

31. हमारा तुमपे कोई हक तो नहीं है, फिर भी ये ज़रूर कहना चाहेंगे, हमारी ज़िन्दगी तुम मांगलो, मगर प्लीज उदास मत रहा करो|

32. ज़िन्दगी रहे ना रहे दोस्तों ज़रूर रहेगी, पास रहे ना रहे यादें ज़रूर रहेगी, अपनी ज़िन्दगी में हमेशा हस्ते रहना, क्यूंकि आपकी हसी में एक मुस्कान मेरी रहेगी|

33. इश्क ने हमे रोने भी नहीं दिया, गम ने हमे भी नहीं दिया, रूठ के जब याद आये तुम्हारी तो, नींद ने भी हमारा साथ छोड़ दिया और हमे सोने नहीं दिया| सॉरी माय डार्लिंग|

34. पलभर में टूट जाये वो कसम नहीं, तुम्हे भूल जाये वो हम नहीं, तुम रूठी रहो इस बात में दम नहीं, तुम मनाने से न मनो इतने बुरे हम भी नहीं|

35. दुश्मनों में भी दोस्त मिला करते है, जन्नतो में भी फूल खीला करते हैं, हमको काटा समझ कर छोर ना देना, काटा ही फूल की हिफाजत किया करते हैं, चलो अब माफ़ कर दो|

36. जान है मुझे ज़िन्दगी से प्यारी, जान के लिए कर दू कुर्बान कुछ भी, जान के लिये तोड़ दू यारी तुम्हारी, अब तो मान जाओ मनाने से, क्यूंकि तुम्ही हो जान हमारी|

37. आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया, हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में, क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया|

38. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

39. पता नहीं कितना नाराज है वो मुझसे, ख्वाबों में भी मिलता है तो बात नहीं करता|

40. कर दो माफ़ गर हुई कोई खता हमसे, अलग तुमसे होकर और अब रहा नहीं जाता हमसे|

41. तरस गए हम कुछ सुनने को तेरे लब से, प्यार की बात ना सही, कोई शिकायत ही कर दो|

42. हमसे कोई गलती हो जाये तो सॉरी, आपको याद ना कर पाए तो सॉरी, वैसे दिल से तो आप को भुलायेंगे नहीं पर ये धड़कन ही रुक जाये तो सॉरी|

43. माफ़ी मांगने का ये मतलब नहीं कि आप गलत हो और कोई दूसरा सही, बल्कि इसका मतलब होता है कि आप इस रिश्ते की दिल से कद्र करते हो|

44. गलती हुई हमसे मान हमने लिया, गलत हम थे जान हमने लिया, अब ना करेंगे कुछ ऐसा जो बुरा लगे आपको, अब ये दिल में ठान हमने लिया, आई एम् सॉरी|

45. हमारी गलती को माफ़ कर देना, अनजाने में भी हमें छोड़ मत देना, नहीं तो हम रह नहीं पायेंगे आपके बिन आप हमारे बिन ही रह लेना|

46. हर गलती की माफ़ी होती है, खास कर तब, जब लड़की माफ़ी पाने के लिए सारी रात रोती है, अब माफ़ भी कर दो ना प्लीज|

47. तेरी दोस्ती हम इस तरह निभायेंगे, तुम रोज खफा होना हम रोज मनायेंगे, पर मान जाना मनाने से वर्ना हम जी ना सकेंगे|

48. आंसू की कीमत वही जानते हैं जो किसी को याद करते हैं, दिल का गम वो जानते हैं जो किसी को चाहते हैं, तन्हाई का दर्द वो जानते हैं जिनसे कोई अपना रूठ जाता है|

49. मैं तुम्हें मना लूंगा, तुम मुझे मना लेना, प्यार की लड़ाई में हार जीत मत करना|

50. काँटों के बदले फूल क्या दोगे, आंसू के बदले ख़ुशी क्या दोगे, हम चाहते हैं आपसे उम्र भर का साथ, हमारे इस सवाल का जवाब क्या दोगे?

51. ऐ जिंदगी काश तू ही रूठ जाती मुझसे, ये रूठे हुए लोग अब मुझसे मनाये नहीं जाते|

52. तुम हंसती हो मुझे हंसाने के लिए, तुम रोती हो मुझे रुलाने के लिए, तुम एक बार रूठ कर तो देखो, मर जाऊंगा तुम्हें मनाने के लिए|

53. दोस्ती में दूरियां तो आती रहती हैं, फिर भी दोस्ती दिलों को मिला देती है, वो दोस्त ही क्या जो नाराज ना हो, पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना लेती है, प्लीज मुझे माफ़ कर दो|

54. जो भी मिला वो हम से खफा मिला, देखो दोस्ती का क्या सिला मिला, उम्र भर रही फ़क्त वफ़ा की तलाश, पर हर शख्श मुझ को बेवफा मिला|

55. तन्हा रहना तो सीख लिया हमने, पर खुश ना कभी रह पायेंगे, तेरी दूरियां तो फिर भी सह लेते, पर तेरे मोहब्बत के बिना ना जी पायेंगे|

56. ऐसा भी क्या हमने कसूर कर दिया, कि आपने इस तरह से हमें गैर कर दिया, माफ़ करना हमारी गलतियों को, जिनकी वजह से आप ने याद करना कम कर दिया|

57. गैरों से दोस्ती की कोई गुंजाइश नहीं होती, मरने के बाद कोई ख्वाहिश नहीं होती, टूटा होगा कहीं दिल किसी गरीब का बादल बिना नहीं तो बरसात नहीं होती|

58. ग़लती इतनी भी बड़ी नहीं की हमने, जो नाराज़ हो जाओ उम्रभर के लिए, माना कि हम तेरे कोई नहीं, पर तू मेरी सबकुछ ये भी तो किसी से छुपा नहीं, प्लीज़ मान जाओ|

59. रूठी हो जानता तो हूँ, खफा हो मानता तो हूँ, गलती हुई है अब माफ़ कर दो, इतना सितम करोगे तो कहीं मर जाऊं ना मैं|

60. भूल से कोई भूल हुई तो, भूल समझ कर भुला देना, अरे, भूलना सिर्फ भूल को, भूल से भी हमें ना भुलाना|

61. दूसरों को इतनी जल्दी माफ़ कर दिया करो, जितनी जल्दी आप उपरवाले से अपने लिए माफ़ी की उम्मीद करते हो|

62. रूठ कर कुछ और भी हसीन लगते हो, बस यही सोच कर तुम को खफा रखा है|

63. मगरूर रहने वालों सादगी हम से सीखो, खुश रहने वालों उदासी हम से सीखो, लड़ाई करने वालों माफ़ी मांगना हम से सीखो|

64. कर दीजिये माफ़ अगर हो गयी है कोई ख़ता, इस कद्र हमारी चाहत का इम्तिहान मत लीजिये, क्यों हो खफा ये बयां तो कीजिये, कर दीजिये माफ़ अगर हो गयी है कोई खता यूँ याद ना करके सजा तो ना दीजिये|

65. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हमसे नाराज है किस लिए बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

66. कोई अच्छी सी सजा दो मुझे, चलो ऐसा करो रुला दो मुझे, दिल दुखाया हो तो मौत आ जाये मुझे, दिल की गहराई से ये दुआ दो मुझे|

67. हंसी ने लबों पे आना छोड़ दिया है, ख्वाबों ने पलकों पे आना छोड़ दिया है, आती नहीं है तब से हिचकियाँ भी, आप ने जब से याद करना छोड़ दिया है|

68. हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें, कौन है जो आयेगा हमें मनाने के लिए, हो सकता है तरस आ भी जाये आपको पर दिल कहाँ से लायें आपसे रूठ जाने के लिये|

69. ऐ दोस्त कभी मुझे भुला ना देना, इस हँसते हुए चेहरे को कभी रुला ना देना, कभी किसी बार पर खफा हो भी जाऊं, पर मुझसे दूर होकर मुझे जुदाई की सजा ना देना|

70. निकला करो इधर से भी होकर कभी कभी, आया करो हमारे भी घर पर कभी कभी, माना कि रूठ जाना यूँ आदत है आपकी, लगते मगर हैं अच्छे ये तेवर कभी कभी|

71. बहुत आसान है किसी को हर्ट करना और कहना, सॉरी लेकिन बहुत मुश्किल होता खुद हर्ट  होके कहना, आय ऍम  फाइन|

72. अगर मै हद से गुज़र जाऊं तो मुझे माफ़ करना, तेरे दिल में उतर जाऊं तो मुझे माफ़ करना, रात में तुझे देख के तेरे दीदार के खातिर, पल भर जो ठहर जाऊं तो मुझे माफ़ करना|

73. एक ज़रा सी भूल खता बन गयी, मेरी वफ़ा ही मेरी सजा बन गयी, दिल लिया और खेल कर तोड़ दिया उसने, हमारी जान गयी और उनकी अदा बन गयी|

74. जरूरतें चाहे जितनी हो, जिंदगी में तुम जरूरी हो वापस आ जाओ|

75. तुझसे नाराज नहीं, तुझसे दूर हूँ, आदत नहीं है पर मजबूर हूँ, दिखाने के लिए तो एकदम मजबूत हूँ, पर तेरे जाने के बाद अंदर से चूर चूर हूँ|

76. खुद ही रोये और रो कर चुप हो गए, बस यही सोच कर कि, अगर कोई अपना होता तो रोने नहीं देता|

77. उम्मीद तो है कि बस माफ़ी मिल जाये, वो दोस्त और कितना वक्त लगाएगा, अब तो ये सोच कर दिल घबराये, कि कहीं इन्तजार में ही ना जिंदगी गुजर जाये|

78. हर इंसान का दिल बुरा नहीं होता, हर एक इंसान बेवफा नहीं होता, बुझ जाते हैं दिए कभी तेल की कमी से, हर बार कसूर हवा का नहीं होता|

79. आस्मां वीरान है, तारे भी हैरान है, माफ़ कर दो मेरी चांदनी, देखो तेरा चाँद भी आंसुओ से परेशान है|

80. माफ़ी मांगना भी नहीं आता मुझे, फिर भी तूने माफ़ कर दिया मुझे, आपकी एक माफ़ी हमारे लिए काफी है|

81. गलती से गलती हो गयी, माफ़ कर दे ऐ कमीने दोस्त|

82. गुनाह किया था हमने जिसकी माफ़ी न मिली, गलती का एहसास हुआ लेकिन तू न मिली|

83. दिल के जख्मों को उन से छुपाना पड़ा, पलकें भीगी थीं पर मुस्कुराना पड़ा, कैसे होते हैं ये मुहब्बत के रिवाज, रूठना चाहते थे उनसे, पर उनको ही मनाना पड़ा|

84. कोई कुछ भी ना कहे तो पता क्या है, इस बेचैन ख़ामोशी की वजह क्या है, उन्हें जा के कोई कहे हम ले लेंगे जहर भी, वो सिर्फ ये तो बता दे मेरी खता क्या है|

85. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

86. सच्चा प्यार वही होता है जो अपनी गलती ना होने पर भी, अपना रिश्ता बचाने के लिए सॉरी बोल देते है|

87. जब भरोसा टूट जाता है तब सॉरी का कोई मतलब नहीं होता|

88. कभी कभी पत्थर की ठुकरे से भी नहीं आती खरोंच और कभी जरा से बात से इंसान बिखर जाता है|

89. उसे अपना कहने की बड़ी तमन्ना थी दिल मैं, इससे पहले की बात लबो पर आती वो गैर हो गये|

90. जब मेरी वजह से कोई हर्ट होता है ना, तो कुछ देर बाद उनसे ज्यादा बुरा मुझे लगता है|

91. जो मुह तक उड़ रही थी अब लिपटी है पाँव से, बारिश किया हुई मिट्टी की फितरत बदल गई|

92. मेरी आँखें देख कर लोग कहते है, लगता है तेरा चाहने वाला तुझे आजमाता बोहुत है|

93. अब मौत से कह दो कि नाराज़गी खत्म कर ले, वो बदल गया है जिसके लिए हम ज़िंदा थे|

94. तू बदनाम ना हो इसलिए जी रहा हूँ मैं, वरना मरने का इरादा तो रोज होता है|

95. न उड़ाओ यूं ठोकरों से मेरी खाके कब्र ज़ालिम, यही एक रह गई है मेरे प्यार की निशानी|

96. तेरी ही जुस्तजू में जी लिया इक ज़िंदगी मैंने, गले मुझको लगाकर खत्म साँसों का सफ़र कर दे|

97. मौत ओ हस्ती की कशमकश में कटी उम्र तमाम गम ने जीने न दिया शौक ने मरने न दिया|

98. तसव्वर में न जाने कातिबे तकदीर क्या था मेरा अंजाम लिखा है मेरे आगाज से पहले|

99. वो कर नहीं रहे थे मेरी बात का यकीन, फिर यूँ हुआ के मर के दिखाना पड़ा मुझे|

100. मौत सिर्फ नामसे बदनाम है, वरना तकलीफ़ तो जिंदगी ही ज्यादा देती है, और बीवी बी सिर्फ नाम से बदनाम है, वरना तकलीफ़ में सिर्फ वही साथ देती है|
Sorry Shayari In Hindi

1.हमसे कोई खता हो जाये तो माफ़ करना, हम याद न कर पाएं तो माफ़ करना, दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं, पर ये दिल ही रुक जाये तो माफ़ करना|

2. तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी, तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी, क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर, जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहेगी|

3. नाराज क्यूँ होते हो किस बात पे हो रूठे, अच्छा चलो ये माना तुम सच्चे हम ही झूठे, कब तक छुपाओगे तुम हमसे हो प्यार करते, गुस्से का है बहाना दिल में हो हम पे मरते|

4. खता हो गयी तो फिर सज़ा सुना दो, दिल में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो, देर हो गयी याद करने में जरूर, लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल मिटा दो|

5. बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से, हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से, तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले, कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से|

6. हो सकता है हमने आपको कभी रुला दिया, आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया, हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में, क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया|

7. हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें, कौन है जो आयेगा हमें मनाने के लिए, हो सकता है तरस आ भी जाये आपको, पर दिल कहाँ से लायें आपसे रूठ जाने के लिये|

8. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

9. एक ज़रा सी भूल खता बन गयी, मेरी वफ़ा ही मेरी सजा बन गयी, दिल लिया और खेल कर तोड़ दिया उसने, हमारी जान गयी और उनकी अदा बन गयी|

10. न चलता है दिल पर जोर कोई, यह खुद की ही मर्जी चलाता है, करता है खटाएं कैसी कैसी, और बदले में हमें रुलाता है|

11. बड़ी मुश्किल से संभले हैं टूट जाने के बाद, हम आज भी रो देते हैं मुस्कुराने के बाद, आपसे मोहब्बत थी कभी बेइन्तेहाँ हमें, मगर अहसास हुआ आपसे बिछड़ जाने के बाद|

12. इस कदर मेरे प्यार का इम्तेहान न लीजिये, खफा हो क्यूँ मुझसे यह बता तो दीजिये, माफ़ कर दो गर हो गयी हो हमसे कोई खता, पर याद न करके हमें सजा तो न दीजिये|

13. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

14. धड़कन बनके जो दिल में समा गए हैं, हर एक पल उनकी याद में बिताते हैं, आंसू निकल आये जब वो याद आ गए, जान निकल जाती है जब वो रूठ जाते हैं|

15. कर देना माफ़ हम को दिल से अगर तोडा हो कभी दिल ज़िन्दगी किया भरोशा कल कफ़न में लिपटा मिले तुम को ये दोस्त तुम्हारा|

16. इश्क की नगरी में माफ़ी नहीं किसी को भी इश्क उमर नहीं देखता बस उजाड़ देता है|

17. खता हो गई हो तो सजा भी सुना दो, दिल में इतना दर्द क्यू है वजह भी बता दो, देर हो गई याद करने में ज़रूर लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से निकाल दो|

18. दर्द हो दिल में तो दुवा कीजिये दिल ही जब दर्द हो तो क्या कीजिये, हम को फ़रियाद करनी आती है आप सुनते ही नही तो क्या कीजिये|

19. उससे ज़रूर माफ़ी मांगो जिससे तुम चाहते हो, उसे मत छोड़ो जो तुम्हें चाहता है उस से कुछ न छुपाओ जो तुम पे ऐतबार करे|

20. देखा है आज मुझे भी गुस्से की नज़र से, मालूम नहीं आज वो किस किस से लड़े है|

21. न तेरी शान कम होती न रुतबा ही घटा होता, जो गुस्से में कहा तुमने वही हँस के कहा होता|

22. रूठ कर कुछ और भी हसीन लगते हो, बस यही सोच कर तुम को खफा रखा है|

23. तुझे मनाऊँ कि अपनी अना की बात सुनूँ, उलझ रहा है मेरे फ़ैसलों का रेशम फिर|

24. निकला करो इधर से भी होकर कभी कभी, आया करो हमारे भी घर पर कभी कभी, माना कि रूठ जाना यूँ आदत है आप की, लगते मगर हैं अच्छे ये तेवर कभी कभी|

25. दुसरो को इतनी जल्दी माफ़ कर दिया करो, जितनी जल्दी आप उपरवाले से अपने लिए माफ़ी की उम्मीद रखते हो|

26. आज एक वादा करते हैं तुमसे, मेरे लिए अब कोई नहीं ज्यादा है तुमसे, माफ़ कर दो जो रुसवा किया तुमको, गलती हमारी थी जो खुद से जुड़ा किया तुमको|

27. भूल से भूल को भुला दो जरा, आशिक आपके है गले से लगा लो जरा, फिर ना करेंगे नाराज़ आपको, अब तो थोडा मुस्कुरा दो जरा, सॉरी बेबी|

28. चुप रहते है हम की कोई खफा ना हो जाये, हमसे कोई रुसवा ना हो जाये, बड़ी मुश्किल से कोई अपना बना है, डर लगता है कही वो भी जुदा ना हो जाये, अगर मैंने कुछ गलती कि हो तो माफ़ कर दो|

29. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हम से तू नाराज़ हैं किस लिये बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

30. तुम खफा हो गए तो कोई ख़ुशी न रहेगी, तुम्हारे बिना चिरागों में रोशनी न रहेगी, क्या कहे क्या गुजरेगी इस दिल पर, जिंदा तो रहेंगे पर ज़िन्दगी न रहे|

31. हमारा तुमपे कोई हक तो नहीं है, फिर भी ये ज़रूर कहना चाहेंगे, हमारी ज़िन्दगी तुम मांगलो, मगर प्लीज उदास मत रहा करो|

32. ज़िन्दगी रहे ना रहे दोस्तों ज़रूर रहेगी, पास रहे ना रहे यादें ज़रूर रहेगी, अपनी ज़िन्दगी में हमेशा हस्ते रहना, क्यूंकि आपकी हसी में एक मुस्कान मेरी रहेगी|

33. इश्क ने हमे रोने भी नहीं दिया, गम ने हमे भी नहीं दिया, रूठ के जब याद आये तुम्हारी तो, नींद ने भी हमारा साथ छोड़ दिया और हमे सोने नहीं दिया| सॉरी माय डार्लिंग|

34. पलभर में टूट जाये वो कसम नहीं, तुम्हे भूल जाये वो हम नहीं, तुम रूठी रहो इस बात में दम नहीं, तुम मनाने से न मनो इतने बुरे हम भी नहीं|

35. दुश्मनों में भी दोस्त मिला करते है, जन्नतो में भी फूल खीला करते हैं, हमको काटा समझ कर छोर ना देना, काटा ही फूल की हिफाजत किया करते हैं, चलो अब माफ़ कर दो|

36. जान है मुझे ज़िन्दगी से प्यारी, जान के लिए कर दू कुर्बान कुछ भी, जान के लिये तोड़ दू यारी तुम्हारी, अब तो मान जाओ मनाने से, क्यूंकि तुम्ही हो जान हमारी|

37. आपने तो दुनिया के कहने पे हमें भुला दिया, हम तो वैसे भी अकेले थे इस दुनिया में, क्या हुआ अगर आपने एहसास दिला दिया|

38. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

39. पता नहीं कितना नाराज है वो मुझसे, ख्वाबों में भी मिलता है तो बात नहीं करता|

40. कर दो माफ़ गर हुई कोई खता हमसे, अलग तुमसे होकर और अब रहा नहीं जाता हमसे|

41. तरस गए हम कुछ सुनने को तेरे लब से, प्यार की बात ना सही, कोई शिकायत ही कर दो|

42. हमसे कोई गलती हो जाये तो सॉरी, आपको याद ना कर पाए तो सॉरी, वैसे दिल से तो आप को भुलायेंगे नहीं पर ये धड़कन ही रुक जाये तो सॉरी|

43. माफ़ी मांगने का ये मतलब नहीं कि आप गलत हो और कोई दूसरा सही, बल्कि इसका मतलब होता है कि आप इस रिश्ते की दिल से कद्र करते हो|

44. गलती हुई हमसे मान हमने लिया, गलत हम थे जान हमने लिया, अब ना करेंगे कुछ ऐसा जो बुरा लगे आपको, अब ये दिल में ठान हमने लिया, आई एम् सॉरी|

45. हमारी गलती को माफ़ कर देना, अनजाने में भी हमें छोड़ मत देना, नहीं तो हम रह नहीं पायेंगे आपके बिन आप हमारे बिन ही रह लेना|

46. हर गलती की माफ़ी होती है, खास कर तब, जब लड़की माफ़ी पाने के लिए सारी रात रोती है, अब माफ़ भी कर दो ना प्लीज|

47. तेरी दोस्ती हम इस तरह निभायेंगे, तुम रोज खफा होना हम रोज मनायेंगे, पर मान जाना मनाने से वर्ना हम जी ना सकेंगे|

48. आंसू की कीमत वही जानते हैं जो किसी को याद करते हैं, दिल का गम वो जानते हैं जो किसी को चाहते हैं, तन्हाई का दर्द वो जानते हैं जिनसे कोई अपना रूठ जाता है|

49. मैं तुम्हें मना लूंगा, तुम मुझे मना लेना, प्यार की लड़ाई में हार जीत मत करना|

50. काँटों के बदले फूल क्या दोगे, आंसू के बदले ख़ुशी क्या दोगे, हम चाहते हैं आपसे उम्र भर का साथ, हमारे इस सवाल का जवाब क्या दोगे?

51. ऐ जिंदगी काश तू ही रूठ जाती मुझसे, ये रूठे हुए लोग अब मुझसे मनाये नहीं जाते|

52. तुम हंसती हो मुझे हंसाने के लिए, तुम रोती हो मुझे रुलाने के लिए, तुम एक बार रूठ कर तो देखो, मर जाऊंगा तुम्हें मनाने के लिए|

53. दोस्ती में दूरियां तो आती रहती हैं, फिर भी दोस्ती दिलों को मिला देती है, वो दोस्त ही क्या जो नाराज ना हो, पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना लेती है, प्लीज मुझे माफ़ कर दो|

54. जो भी मिला वो हम से खफा मिला, देखो दोस्ती का क्या सिला मिला, उम्र भर रही फ़क्त वफ़ा की तलाश, पर हर शख्श मुझ को बेवफा मिला|

55. तन्हा रहना तो सीख लिया हमने, पर खुश ना कभी रह पायेंगे, तेरी दूरियां तो फिर भी सह लेते, पर तेरे मोहब्बत के बिना ना जी पायेंगे|

56. ऐसा भी क्या हमने कसूर कर दिया, कि आपने इस तरह से हमें गैर कर दिया, माफ़ करना हमारी गलतियों को, जिनकी वजह से आप ने याद करना कम कर दिया|

57. गैरों से दोस्ती की कोई गुंजाइश नहीं होती, मरने के बाद कोई ख्वाहिश नहीं होती, टूटा होगा कहीं दिल किसी गरीब का बादल बिना नहीं तो बरसात नहीं होती|

58. ग़लती इतनी भी बड़ी नहीं की हमने, जो नाराज़ हो जाओ उम्रभर के लिए, माना कि हम तेरे कोई नहीं, पर तू मेरी सबकुछ ये भी तो किसी से छुपा नहीं, प्लीज़ मान जाओ|

59. रूठी हो जानता तो हूँ, खफा हो मानता तो हूँ, गलती हुई है अब माफ़ कर दो, इतना सितम करोगे तो कहीं मर जाऊं ना मैं|

60. भूल से कोई भूल हुई तो, भूल समझ कर भुला देना, अरे, भूलना सिर्फ भूल को, भूल से भी हमें ना भुलाना|

61. दूसरों को इतनी जल्दी माफ़ कर दिया करो, जितनी जल्दी आप उपरवाले से अपने लिए माफ़ी की उम्मीद करते हो|

62. रूठ कर कुछ और भी हसीन लगते हो, बस यही सोच कर तुम को खफा रखा है|

63. मगरूर रहने वालों सादगी हम से सीखो, खुश रहने वालों उदासी हम से सीखो, लड़ाई करने वालों माफ़ी मांगना हम से सीखो|

64. कर दीजिये माफ़ अगर हो गयी है कोई ख़ता, इस कद्र हमारी चाहत का इम्तिहान मत लीजिये, क्यों हो खफा ये बयां तो कीजिये, कर दीजिये माफ़ अगर हो गयी है कोई खता यूँ याद ना करके सजा तो ना दीजिये|

65. दिल से तेरी याद को जुदा तो नहीं किया, रखा जो तुझे याद कुछ बुरा तो नहीं किया, हमसे नाराज है किस लिए बता जरा, हमने कभी तुझे खफा तो नहीं किया|

66. कोई अच्छी सी सजा दो मुझे, चलो ऐसा करो रुला दो मुझे, दिल दुखाया हो तो मौत आ जाये मुझे, दिल की गहराई से ये दुआ दो मुझे|

67. हंसी ने लबों पे आना छोड़ दिया है, ख्वाबों ने पलकों पे आना छोड़ दिया है, आती नहीं है तब से हिचकियाँ भी, आप ने जब से याद करना छोड़ दिया है|

68. हम रूठे भी तो किसके भरोसे रूठें, कौन है जो आयेगा हमें मनाने के लिए, हो सकता है तरस आ भी जाये आपको पर दिल कहाँ से लायें आपसे रूठ जाने के लिये|

69. ऐ दोस्त कभी मुझे भुला ना देना, इस हँसते हुए चेहरे को कभी रुला ना देना, कभी किसी बार पर खफा हो भी जाऊं, पर मुझसे दूर होकर मुझे जुदाई की सजा ना देना|

70. निकला करो इधर से भी होकर कभी कभी, आया करो हमारे भी घर पर कभी कभी, माना कि रूठ जाना यूँ आदत है आपकी, लगते मगर हैं अच्छे ये तेवर कभी कभी|

71. बहुत आसान है किसी को हर्ट करना और कहना, सॉरी लेकिन बहुत मुश्किल होता खुद हर्ट  होके कहना, आय ऍम  फाइन|

72. अगर मै हद से गुज़र जाऊं तो मुझे माफ़ करना, तेरे दिल में उतर जाऊं तो मुझे माफ़ करना, रात में तुझे देख के तेरे दीदार के खातिर, पल भर जो ठहर जाऊं तो मुझे माफ़ करना|

73. एक ज़रा सी भूल खता बन गयी, मेरी वफ़ा ही मेरी सजा बन गयी, दिल लिया और खेल कर तोड़ दिया उसने, हमारी जान गयी और उनकी अदा बन गयी|

74. जरूरतें चाहे जितनी हो, जिंदगी में तुम जरूरी हो वापस आ जाओ|

75. तुझसे नाराज नहीं, तुझसे दूर हूँ, आदत नहीं है पर मजबूर हूँ, दिखाने के लिए तो एकदम मजबूत हूँ, पर तेरे जाने के बाद अंदर से चूर चूर हूँ|

76. खुद ही रोये और रो कर चुप हो गए, बस यही सोच कर कि, अगर कोई अपना होता तो रोने नहीं देता|

77. उम्मीद तो है कि बस माफ़ी मिल जाये, वो दोस्त और कितना वक्त लगाएगा, अब तो ये सोच कर दिल घबराये, कि कहीं इन्तजार में ही ना जिंदगी गुजर जाये|

78. हर इंसान का दिल बुरा नहीं होता, हर एक इंसान बेवफा नहीं होता, बुझ जाते हैं दिए कभी तेल की कमी से, हर बार कसूर हवा का नहीं होता|

79. आस्मां वीरान है, तारे भी हैरान है, माफ़ कर दो मेरी चांदनी, देखो तेरा चाँद भी आंसुओ से परेशान है|

80. माफ़ी मांगना भी नहीं आता मुझे, फिर भी तूने माफ़ कर दिया मुझे, आपकी एक माफ़ी हमारे लिए काफी है|

81. गलती से गलती हो गयी, माफ़ कर दे ऐ कमीने दोस्त|

82. गुनाह किया था हमने जिसकी माफ़ी न मिली, गलती का एहसास हुआ लेकिन तू न मिली|

83. दिल के जख्मों को उन से छुपाना पड़ा, पलकें भीगी थीं पर मुस्कुराना पड़ा, कैसे होते हैं ये मुहब्बत के रिवाज, रूठना चाहते थे उनसे, पर उनको ही मनाना पड़ा|

84. कोई कुछ भी ना कहे तो पता क्या है, इस बेचैन ख़ामोशी की वजह क्या है, उन्हें जा के कोई कहे हम ले लेंगे जहर भी, वो सिर्फ ये तो बता दे मेरी खता क्या है|

85. आज मैंने खुद से एक वादा किया है, माफ़ी मांगूंगा तुझसे तुझे रुसवा किया है, हर मोड़ पर रहूँगा मैं तेरे साथ साथ, अनजाने में मैंने तुझको बहुत दर्द दिया है|

86. सच्चा प्यार वही होता है जो अपनी गलती ना होने पर भी, अपना रिश्ता बचाने के लिए सॉरी बोल देते है|

87. जब भरोसा टूट जाता है तब सॉरी का कोई मतलब नहीं होता|

88. कभी कभी पत्थर की ठुकरे से भी नहीं आती खरोंच और कभी जरा से बात से इंसान बिखर जाता है|

89. उसे अपना कहने की बड़ी तमन्ना थी दिल मैं, इससे पहले की बात लबो पर आती वो गैर हो गये|

90. जब मेरी वजह से कोई हर्ट होता है ना, तो कुछ देर बाद उनसे ज्यादा बुरा मुझे लगता है|

91. जो मुह तक उड़ रही थी अब लिपटी है पाँव से, बारिश किया हुई मिट्टी की फितरत बदल गई|

92. मेरी आँखें देख कर लोग कहते है, लगता है तेरा चाहने वाला तुझे आजमाता बोहुत है|

93. अब मौत से कह दो कि नाराज़गी खत्म कर ले, वो बदल गया है जिसके लिए हम ज़िंदा थे|

94. तू बदनाम ना हो इसलिए जी रहा हूँ मैं, वरना मरने का इरादा तो रोज होता है|

95. न उड़ाओ यूं ठोकरों से मेरी खाके कब्र ज़ालिम, यही एक रह गई है मेरे प्यार की निशानी|

96. तेरी ही जुस्तजू में जी लिया इक ज़िंदगी मैंने, गले मुझको लगाकर खत्म साँसों का सफ़र कर दे|

97. मौत ओ हस्ती की कशमकश में कटी उम्र तमाम गम ने जीने न दिया शौक ने मरने न दिया|

98. तसव्वर में न जाने कातिबे तकदीर क्या था मेरा अंजाम लिखा है मेरे आगाज से पहले|

99. वो कर नहीं रहे थे मेरी बात का यकीन, फिर यूँ हुआ के मर के दिखाना पड़ा मुझे|

100. मौत सिर्फ नामसे बदनाम है, वरना तकलीफ़ तो जिंदगी ही ज्यादा देती है, और बीवी बी सिर्फ नाम से बदनाम है, वरना तकलीफ़ में सिर्फ वही साथ देती है|

Related Tags: Sorry Shayari in Hindi 2019