Top 100 Vishwas Shayari in Hindi 2020 [Unique & Fresh]



Vishwas Shayari in Hindi 2020, in case you are searching for some of the best and most popular viswas shayari than you are landed at correct page for the same. Don't forge to share it!

Vishwas Shayari in Hindi 2020

Vishwas Shayari in Hindi 2020


1.
तोङ कर जोङ लो चाहे
हर चीज़ दुनिया की...

सव कुछ काबिल ए मरम्मत है..
एैतबार के सिवा...

2.
*** विश्वास पर शायरी ***

दुनिया को नफरत का यकीन नहीं दिलाना पङता,
मगर लोग मोहब्बत का सबूत ज़रूर मॉगते हैं...

3.
हम समझदार भी इतने हैं कि उनका झूठ पकङ लेते हैं
आैर उनके दीवाने भी इतने हैं फिर भी यकीन कर लेते हैं

4.
*** विश्वास पर शायरी ***

जिस नज़ाकत से लहरें पैरों को छूती हैं...
यकीन नहीं होता इन्होने भी कश्तीयाॅ ङुबाई होंगी...

5.
रख भरोसा खुद पर क्यो ढूॅढता है फरिश्ते
पंछीअो के पास कहॉ होते है नक्शे फिर भी ढूॅढ लेते है रास्ते

6.
कीमत पानी की नहीं, प्यास की होती है
कीमत मौत की नहीं, सॉस की होती है
प्यार तो बहुत करते हैं दुनिया में पर
कीमत प्यार की नहीं विश्वास की होती है


7.
*** विश्वास पर शायरी ***

मौत पर भी यकीन है उस पर भी एतबार है,
देखते हैं पहले कौन आता है दोनो का इंतज़ार है...

8.
वो अक़्लमंद कभी जोश में नहीं आता,
गले तो मिलता है, आगोश में नहीं अाता
- Farhat Ehsas

9.
भरोसा क्या करना गैरों पर,
जब गिरना और चलना है अपने ही पैरों पर.

10.
अाज तक बहुत भरोसे टूटे
मगर भरोसे की अादत नहीं छूटी..

11.
लङकों की हँसी और
कुत्ते की ख़ामोशी
पर कभी भरोसा नही करना चाहिए...

12.
भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है,
और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है।

13.
सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनों पे भी शक करना
मेरी फ़ितरत में तो था गैरों पे भरोसा करना.

14.
खुशियाँ मिलती नहीं मांगने से,
मंजिल मिलती नहीं राह पर रुक जाने से,
भरोसा रखना खुद पर और उस रब पर,
सब कुछ देता है वो सही वक्त आने पर...

15.
किसी पर भरोसा करो तो आखिरी सांस तक करो,
या तो एक सच्चा दोस्त पाओगे या तो एक अच्छी शिक्षा...

16.
भरोसे की एक डोर है दोस्ती,
बेताब दिल की कमजोरी है दोस्ती,
ना मानो तो कुछ भी नहीं,
मानो तो ईश्वर की कमजोरी है दोस्ती

17.
भरोसा ना करना इस दुनिया के लोगों पे
मुझे तबाह करने वाला मेरा बहुत अज़ीज़ था

18.
कैसे करू भरोसा गैरो के प्यार पर,
अपने ही मजा लेते अपनो की हार पर

19.
इंतज़ार का मज़ा तो तब आता है,
जब किसी ने लौट के ना आने का वादा किया हो,
फिर भी दिल को विश्वास हो उसके लौट आने का

20.
खुशबू मे अहसास होता है
मुहब्बत का रिश्ता खास होता है
हर बात को मुह से कहना मुमकीन नही
इसलिए प्यार का दुसरा नाम विश्वास होता है!

Top 20 Vishwas Shayari in Hindi 2020

  1. भरोसा भी इसी तरह बहुत नाजुक होता है, थोड़ी सी ठोकर से ही टूट जाता है हमें भरोसा किसी पर भी बहुत सोच समझ कर करना चाहिए।
  2. और एक यह भी बहुत पुरानी कहानी है कि भरोसे पर तो दुनिया टिकी है। तो हमारी भरोसा शायरी Vishwas Shayari in hindi की शुरुआत कुछ इन पत्तियों से शुरू करते हैं।
  3. शीशा तो टूट कर, अपनी कशिश बता देता है
    दर्द तो उस पत्थर का हैं, जो टुट्ने के काबिल भी नहीं।
  4. आज मैने अपने प्यार को हारते देखा है,
    प्यार पे भरोसा था वो आज टूटते देखा है,
    उनको देखकर दिल कभी जो मुस्कुराया करता था,
    आज उनसे दूर होकर दिल को मैने रोते देखा है।
  5. दिल तोड़ना हमारी आदत नहीं,
    दिल हम किसी का दुखाते नहीं,
    भरोसा रखना मेरी वफाओं पर,
    दिल में बसा कर हम किसी को भुलाते नहीं।
  6. प्यार की जंग वे लोग ही हारते हैं,
    जिन्हें अपने प्यार पर भरोसा नहीं होता,
    सच्चे प्यार में सब कुछ मुमकिन होता है,
    नामुमकिन कुछ भी नहीं होता।
  7. शुक्रिया करते हैं हम रोज तेरा,
    चलो क्या हुआ जिंदगी में सुख घट गया,
    भरोसा करने का इन आंखों पर जो पर्दा था,
    तुम्हें मिलकर वो तो हट गया . . !
  8. प्यार की जंग वे लोग ही हारते हैं,
    जिन्हें अपने प्यार पर भरोसा नहीं होता,
    सच्चे प्यार में सब कुछ मुमकिन होता है,
    नामुमकिन कुछ भी नहीं होता।
  9. रिश्ता ऐसा हो जिस पर नाज़ हो,
    कल जितना भरोसा था उतना ही आज हो,
    रिश्ता सिर्फ वो नहीं जो गम या खुशी में साथ दे,
    रिश्ते वो है जो अपने पन का एहसास दें।
  10. मैंने तुम पर भरोसा किया,
    पर तुमने मुझे धोखा दिया।
    अब किसी और पे ना भरोसा होगा,
    और ना किसी से दोबारा प्यार होगा।
  11. तुम्हारी किस्मत का लिखा,
    तुमसे कोई छीन नहीं सकता,
    भरोसा हो रब पर तो तुम्हें वो भी मिलेगा,
    जो कभी तुम्हारा हो नहीं सकता।
  12. खूबियां इतनी तो नहीं हम में,
    कि तुम्हें कभी याद आएंगे पर इतना तो भरोसा है,
    हमें खुद पर कि आप हमें कभी भुला नहीं पाएंगे।
  13. नजाकत तो देखिए, की सूखे पते ने डाली से कहा,
    चुपके से अलग करना वरना,
    लोगों का रिश्तों से भरोसा उठ जायेगा !
  14. भरोसा खुदा पर है तो,
    जो लिखा है तकदीर में वही पाओगे,
    भरोसा अगर खुद पर है तो,
    खुदा वही लिखेगा जो आप चाहोगे !!
  15. हमने अपने नसीब से ज्यादा अपने दोस्तों पर भरोसा रखा है,
    क्यूँकि नसीब तो बहुत बार बदला है,,
    लेकिन मेरे दोस्त अभी भी वही है।
  16. जब जब भरोसा किया है मेने, तब तब भरोसा टूटा है मेरा,
    अब तो किसी पर भरोसा करने का, मन ही नही करता है मेरा।

मेरी निगाह में फिर कोई दूसरा चेहरा नहीं आया,
भरोसा ही कुछ ऐसा तुम्हारे लौट आने का।

  1. मेरे दिल कि सरहद को पार न करना,
    नाजुक है दिल मेरा वार न करना,
    खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
    इस भरोसे को तुम बेकार न करना।
  2. भरोसा करें लेकिन सावधानी के साथ,
    क्योकि कभी कभी हमारे खुद के दांत भी,
    हमारी खुद की जीभ को काट लेते है।
  3. प्यार और भरोसा कभी मत खोना क्यूंकि,
    प्यार हर किसी से नहीं होता,
    और भरोसा हर किसी पर नहीं होता।
  4. मुझे किसी से कोई भी शिकायत नहीं,
    गलती मेरी ही थी कि मैने तुझपे भरोसा किया।
  5. अगर आपको हमारी यह विश्वास पर शायरी पसंद आई है तो मैं कमेंट में जरूर बताएं और हमारी यह Vishwas shayari को अपने प्यार के साथ शेयर करना ना भूलें।
  6. कीमत पानी की नहीं, प्यास की होती है
    कीमत मौत की नहीं, सॉस की होती है
    प्यार तो बहुत करते हैं दुनिया में पर
    कीमत प्यार की नहीं विश्वास की होती है
  7. मौत पर भी यकीन है उस पर भी एतबार है,
    देखते हैं पहले कौन आता है दोनो का इंतज़ार है…
  8. तो कैसी लगी आपको हमारी यह Bharosa shayari। हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी यह Trust शायरी बहुत अच्छी लगी होगी।
  9. *** विश्वास पर शायरी ***

जिस नज़ाकत से लहरें पैरों को छूती हैं…
यकीन नहीं होता इन्होने भी कश्तीयाॅ ङुबाई होंगी…

  1. रख भरोसा खुद पर क्यो ढूॅढता है फरिश्ते
    पंछीअो के पास कहॉ होते है नक्शे फिर भी ढूॅढ लेते है रास्ते
  2. लङकों की हँसी और
    कुत्ते की ख़ामोशी
    पर कभी भरोसा नही करना चाहिए…
  3. कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है,मगर धरती की बेचैनी को बस बादल समझता है.मैं तुझसे दूर कैसा हूँ , तू मुझसे दूर कैसी है,ये तेरा दिल समझता है या मेरा दिल समझता है.
  4. सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनों पे भी शक करना
    मेरी फ़ितरत में तो था गैरों पे भरोसा करना.
  5. खुशियाँ मिलती नहीं मांगने से,
    मंजिल मिलती नहीं राह पर रुक जाने से,
    भरोसा रखना खुद पर और उस रब पर,
    सब कुछ देता है वो सही वक्त आने पर…
  6. भरोसे की एक डोर है दोस्ती,
    बेताब दिल की कमजोरी है दोस्ती,
    ना मानो तो कुछ भी नहीं,
    मानो तो ईश्वर की कमजोरी है दोस्ती
  7. इंतज़ार का मज़ा तो तब आता है,
    जब किसी ने लौट के ना आने का वादा किया हो,
    फिर भी दिल को विश्वास हो उसके लौट आने का
  8. खुशबू मे अहसास होता है
    मुहब्बत का रिश्ता खास होता है
    हर बात को मुह से कहना मुमकीन नही
    इसलिए प्यार का दुसरा नाम विश्वास होता है!
  9. भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है,
    और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है।
  10. तुझ को गुरुर ए हुस्न है
    मुझ को सुरूर ए फ़न. दोनों को खुद पसंदगी की
    लत बुरी भी है. तुझ में छुपा के खुद को
    मैं रख दूँ मग़र मुझे. कुछ रख के भूल जाने की
    आदत बुरी भी है.
  11. हर इक खोने में हर इक पाने में
    तेरी याद आती है
    नमक आँखों में घुल जाने में तेरी याद आती है. तेरी अमृत भरी लहरों को क्या मालूम गंगा माँ
    समंदर पार वीराने में तेरी याद आती है.
  12. लोगो के पास बहुत कुछ हैं,
    मगर मुश्किल यही है कि
    भरोसे पर शक हैं और
    अपने शक पे भरोसा हैं।
  13. कीमत पानी की नहीं, प्यास की होती हैं,
    कीमत मौत की नही, साँस की होती हैं,
    प्यार तो बहुत करते हैं, दुनिया में…
    कीमत प्यार की नही, विश्वास की होती हैं।
  14. यह चमत्कार केवल “विश्वास” ही कर सकता हैं,
    जो पत्थर को भी “भगवान” कर सकता हैं..।।
  15. उम्मीदों का फटा पैरहन,
    रोज़-रोज़ सिलना पड़ता है, तुम से मिलने की कोशिश में,
    किस-किस से मिलना पड़ता है.
  16. घर से निकला हूँ तो निकला है घर भी साथ मेरे
    देखना ये है कि मंज़िल पे कौन पहुँचेगा ? मेरी कश्ती में भँवर बाँध के दुनिया ख़ुश है
    दुनिया देखेगी कि साहिल पे कौन पहुँचेगा.
  17. तेरी गली में क्या होगा ये मालूम है पर आऊँगा, भींग रही है काया सारी खजुराहो की मूरत सी,
    इस दर्शन का और प्रदर्शन मत करना, मर जाऊँगा
  18. हर रिश्तें में विश्वास रहने दो,
    जुबान पर हर वक्त मिठास रहने दो,
    यही तो अंदाज हैं जिन्दगी जीने का,
    न ख़ुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो।
  19. रख भरोसा खुद पर क्यो ढूॅढता है फरिश्ते,
    पंछीअो के पास कहॉ होते है नक्शे फिर भी ढूॅढ लेते है रास्ते।
  20. उम्मीदें तैरती रहती हैं, कश्तीयां डूब जाती है..
    कुछ घर सलामत रहते हैं, आँधियाँ जब भी आती है,
    बचा ले जो हर तूफां से, उसे “आस” कहते हैं…
    बड़ा मज़बूत है ये धागा, जिसे “विश्वास” कहते है।
  21. यकीन था हमें उन पर,
    तोड़ दिया उन्हों ने भरोसा हस कर,
    उन्हों ने सोचा भी नहीं,
    क्या गुज़रेगी इस दिल पर।।
  22. जो लम्हा साथ है उसे जी भर के जी लो,
    कमबख्त ये ज़िन्दगी भरोसे के काबिल नही।
  23. भरोसा दूसरों पर रखो तो गम दे जाती हैं,
    भरोसा ख़ुद पर रखो तो ताकत बन जाती हैं।
  24. अगर बिछड़ना नही चाहते हो तो,
    खुद पर भरोसा करना सीखो,
    क्युकी सहारे कितने भी मज़बूत हो
    कभी ना कभी साथ छोड़ जाते है।
  25. भरोसा क्या करना गैरों पर,
    जब गिरना और चलना है अपने ही पैरों पर।
  26. हाथो की लकीरो पर ऐतबार कर लेना,
    भरोसा हो तो हदो को पार कर लेना
    खोना पाना तो नसीबो का खेल हैं
    दिल जिसे अपना ले उसी से प्यार कर लेना
  27. Vishwas hai tum par apne se bhi zyada
    par har us parchayi se darta hu
    cheen na le koi tumhe mujhse
    bas har pal isi baat se darta hu..!!
  28. Bina dil ke pyar nahi khilta,
    Bina sacchai ke Vishwas nahi milta,
    Kuch to acchai hum mein zarur hogi
    Varna “AAP jaisa ‘DOST’ hame nahi milta.!!
  29. ना छुपाना कोई बात दिल में हो अगर,
    रखना थोड़ा भरोसा हम पर,
    हम निभाएंगे दोस्ती का रिश्ता इस क़दर,
    के भुलाने पर भी न भुला पाओगे ज़िन्दगी भर
  30. Manzil na pa sake to kya hosla to hai
    Saath nahi karwaan to kya rasta to hai
    Uthenge kadam phir se manzil ke taraf
    Koi nahi saath to kya, khud pe bharosa to hai
  31. मोहबत करने वालो के दिल टूट ही जाते हैं
    हाथ अक्सर हाथो में छूट ही जाते हैं
    जिनकी वफ़ा पर होता हैं भरोसा
    अक्सर वो शख्स रूत ही जाते हैं
  32. Chahat hamari woh samaj na paye,
    Aankhome CHHipi baatain woh padh na paye,
    Malum hai unhe woh jaan hai hamari,
    ParHam par wo bharosa na kar paye.
  33. भरोसा भी इसी तरह बहुत नाजुक होता है, थोड़ी सी ठोकर से ही टूट जाता है हमें भरोसा किसी पर भी बहुत सोच समझ कर करना चाहिए।
  34. विश्वास पर शायरी ***

जिस नज़ाकत से लहरें पैरों को छूती हैं…
यकीन नहीं होता इन्होने भी कश्तीयाॅ ङुबाई होंगी…

  1. खुद पर विश्वास हैं तो खुदा तेरे साथ हैं
    अपनों पे विश्वास हैं तो दुआ तेरे साथ हैं
    ज़िन्दगी से कभी मत हारना मेरे दोस्त
    जब तक हम तेरे साथ हैं…!!
  2. और एक यह भी बहुत पुरानी कहानी है कि भरोसे पर तो दुनिया टिकी है। तो हमारी भरोसा शायरी Vishwas Shayari in hindi की शुरुआत कुछ इन पत्तियों से शुरू करते हैं।
  3. हम समझदार भी इतने हैं कि उनका झूठ पकङ लेते हैं
    आैर उनके दीवाने भी इतने हैं फिर भी यकीन कर लेते हैं
  4. ये ना-मुमकिन है, कोई मिल जाए तुम जैसा,

पर इतना आसान ये भी नहीं ,तुम ढूँढ लो हम जैसा.

  1. रख भरोसा खुद पर क्यो ढूॅढता है फरिश्ते
    पंछीअो के पास कहॉ होते है नक्शे फिर भी ढूॅढ लेते है रास्ते
  2. मौत पर भी यकीन है उस पर भी एतबार है,
    देखते हैं पहले कौन आता है दोनो का इंतज़ार है…
  3. दिल को तिरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है
    और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता

अहमद फ़राज़

  1. न कोई वा'दा न कोई यक़ीं न कोई उमीद

मगर हमें तो तिरा इंतिज़ार करना था

  1. बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर

में भी वफ़ा की उम्मीद करते हैं

यहाँ तो दुआ क़बूल ना होने पर लोग

भगवान बदल दिया करते है

  1. कीमत पानी की नहीं, प्यास की होती है
    कीमत मौत की नहीं, सॉस की होती है
    प्यार तो बहुत करते हैं दुनिया में पर
    कीमत प्यार की नहीं विश्वास की होती है
  2. आदतन तुम ने कर दिए वादे

आदतन हम ने ए'तिबार किया

  1. आप का ए'तिबार कौन करे
    रोज़ का इंतिज़ार कौन करे
    दाग़ देहलवी
  2. मिरी ज़बान के मौसम बदलते रहते हैं

मैं आदमी हूँ मिरा ए'तिबार मत करना !

  1. जिस नज़ाकत से लहरें पैरों को छूती हैं…
    यकीन नहीं होता इन्होने भी कश्तीयाॅ ङुबाई होंगी…
  2. कीमत पानी की नहीं, प्यास की होती है
    कीमत मौत की नहीं, सॉस की होती है
    प्यार तो बहुत करते हैं दुनिया में पर
    कीमत प्यार की नहीं विश्वास की होती है
  3. वो अक़्लमंद कभी जोश में नहीं आता,
    गले तो मिलता है, आगोश में नहीं अाता
  • Farhat Ehsas
  1. मौत पर भी यकीन है उस पर भी एतबार है,
    देखते हैं पहले कौन आता है दोनो का इंतज़ार है…
  2. भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है,
    और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है।
  3. लङकों की हँसी और
    कुत्ते की ख़ामोशी
    पर कभी भरोसा नही करना चाहिए…
  4. खुशियाँ मिलती नहीं मांगने से,
    मंजिल मिलती नहीं राह पर रुक जाने से,
    भरोसा रखना खुद पर और उस रब पर,
    सब कुछ देता है वो सही वक्त आने पर…
  5. कोई मंजिल नहीं जंचती, सफर अच्छा नहीं लगता,
    अगर घर लौट भी आऊ तो घर अच्छा नहीं लगता !
    करूं कुछ भी मैं अब दुनिया को सब अच्छा ही लगता है,
    मुझे कुछ भी तुम्हारे बिन मगर अच्छा नहीं लगता..!!
  6. जिस्म का आखिरी मेहमान बना बैठा हूँ, एक उम्मीद का उन्वान बना बैठा हूँ !
    वो कहाँ है ये हवाओं को भी मालूम है मगर, एक बस में हूँ जो अनजान बना बैठा हूँ !
  7. स्वंय से दूर हो तुम भी स्वंय से दूर है हम भी,
    बहुत मशहूर हो तुम भी बहुत मशहूर है हम भी !
    बड़े मगरूर हो तुम भी बड़े मगरूर है हम भी,
    अतः मजबूर हो तुम भी अतः मजबूर है हम भी !!
  8. क़लम को खून में खुद के डुबोता हूँ तो हंगामा,
    गिरेबां अपना आँसू में भिगोता हूँ तो हंगामा,
    नहीं मुझ पर भी जो खुद की ख़बर वो है ज़माने पर,
    मैं हँसता हूँ तो हंगामा, मैं रोता हूँ तो हंगामा…!!
  9. कितनी दुनिया है मुझे ज़िन्दगी देने वाली,और एक ख्वाब है तेरा की जो मर जाता है
    खुद को तरतीब से जोड़ूँ तो कहा से जोड़ूँ,मेरी मिट्टी में जो तू है की बिखर जाता है !!
  10. पनाहों में जो आया हो तो उस पर वार क्या करना,
    जो दिल हारा हुआ हो उस पे फिर अधिकार क्या करना !
    मुहब्बत का मजा तो डूबने की कशमकश में है,
    हो ग़र मालूम गहराई तो दरिया पार क्या करना..!
  11. नज़र में शोखिया लब पर मुहब्बत का तराना है,
    मेरी उम्मीद की जद़ में अभी सारा जमाना है !
    कई जीते है दिल के देश पर मालूम है मुझकों,
    सिकन्दर हूं मुझे इक रोज खाली हाथ जाना है !!
  12. हमने दुःख के महासिंधु से सुख का मोती बीना है,
    और उदासी के पंजों से हँसने का सुख छीना है !
    मान और सम्मान हमें ये याद दिलाते है पल पल,
    भीतर भीतर मरना है पर बाहर बाहर जीना है..!!
  13. एक दो दिन में वो इकरार कहा आएगा,
    हर सुबह एक ही अखबार कहा आएगा !
    आज बंधा है जो इन् बातों में तो बहाल जायेंगे,
    रोज इन बाहों का त्यौहार कहा आएगा !!
  14. मेरा जो भी तर्जुबा है, तुम्हे बतला रहा हूँ मैं
    कोई लब छु गया था तब, की अब तक गा रहा हूँ मैं
    बिछुड़ के तुम से अब कैसे, जिया जाये बिना तडपे
    जो मैं खुद ही नहीं समझा, वही समझा रहा हु मैं
  15. ना पाने की खुशी है कुछ,ना खोने का ही कुछ गम है,
    ये दौलत और शौहरत सिर्फ कुछ जख्मों का मरहम है !
    अजब सी कशमकश है रोज जीने ,रोज मरने में,
    मुक्कमल जिंदगी तो है,मगर पूरी से कुछ कम है !!
  16. भरोसे की एक डोर है दोस्ती,
    बेताब दिल की कमजोरी है दोस्ती,
    ना मानो तो कुछ भी नहीं,
    मानो तो ईश्वर की कमजोरी है दोस्ती
  17. इंतज़ार का मज़ा तो तब आता है,
    जब किसी ने लौट के ना आने का वादा किया हो,
    फिर भी दिल को विश्वास हो उसके लौट आने का.
  18. खुशबू मे अहसास होता है
    मुहब्बत का रिश्ता खास होता है
    हर बात को मुह से कहना मुमकीन नही
    इसलिए प्यार का दुसरा नाम विश्वास होता है!
  19. नज़र में शोखिया लब पर मुहब्बत का तराना है,
    मेरी उम्मीद की जद़ में अभी सारा जमाना है,
    कई जीते है दिल के देश पर मालूम है मुझकों,
    सिकन्दर हूं मुझे इक रोज खाली हाथ जाना है..!!
  20. सखियों संग रंगने की धमकी सुनकर क्या डर जाऊँगा?
    तेरी गली में क्या होगा ये मालूम है पर आऊँगा,
    भींग रही है काया सारी खजुराहो की मूरत सी,
    इस दर्शन का और प्रदर्शन मत करना, मर जाऊँगा..!!
  21. सदा तो धूप के हाथों में ही परचम नहीं होता
    खुशी के घर में भी बोलों कभी क्या गम नहीं होता
    फ़क़त इक आदमी के वास्तें जग छोड़ने वालो
    फ़क़त उस आदमी से ये ज़माना कम नहीं होता।
  22. बदलने को तो इन आखोँ के मंज़र कम नहीं बदले ,
    तुम्हारी याद के मौसम,हमारे ग़म नहीं बदले ,
    तुम अगले जन्म में हम से मिलोगी,तब तो मानोगी ,
    ज़माने और सदी की इस बदल में हम नहीं बदले..!!
  23. मेरे जीने मरने में, तुम्हारा नाम आएगा
    मैं सांस रोक लू फिर भी, यही इलज़ाम आएगा
    हर एक धड़कन में जब तुम हो, तो फिर अपराध क्या मेरा
    अगर राधा पुकारेंगी, तो घनश्याम आएगा
  24. वो जिसका तीर चुपके से जिगर के पार होता है
    वो कोई गैर क्या अपना ही रिश्तेदार होता है
    किसी से अपने दिल की बात तू कहना ना भूले से
    यहाँ ख़त भी थोड़ी देर में अखबार होता है
  25. कोई कब तक महज सोचे,कोई कब तक महज गाए
    ईलाही क्या ये मुमकिन है कि कुछ ऐसा भी हो जाऐ
    मेरा मेहताब उसकी रात के आगोश मे पिघले
    मैँ उसकी नीँद मेँ जागूँ वो मुझमे घुल के सो जाऐ!

Vishwas Shayari in Hindi 2020


Related Post