Top 120 Good Shayari in Hindi 2019



Top 20 Good Shayari in Hindi 2019: Here is the list of Top 20 Good Shayari in Hindi 2019. You can use this status on your social media profile.

Top 20 Good Shayari in Hindi 2019

Top 20 Good Shayari in Hindi 2019


1.
सोचा था तड़पायेंगे हम उन्हें,
किसी और का नाम लेके जलायेगें उन्हें,
फिर सोचा मैंने उन्हें तड़पाके दर्द मुझको ही होगा,
तो फिर भला किस तरह सताए हम उन्हें।

2.
दिन हुआ है, तो रात भी होगी,
मत हो उदास, उससे कभी बात भी होगी।
वो प्यार है ही इतना प्यारा,
ज़िंदगी रही तो मुलाकात भी होगी।

3.
वो बिछड़ के हमसे ये दूरियां कर गई,
न जाने क्यों ये मोहब्बत अधूरी कर गई,
अब हमे तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ,
कम से कम उसकी सारी तमन्नाएं तो पूरी हो गई।

4.
अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल, अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल, अब किसी दिलासे की जरूरत नही है, क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल।

5.
होले होले कोई याद आया करता है,
कोई मेरी हर साँसों को महकाया करता है,
उस अजनबी का हर पल शुक्रिया अदा करते हैं,
जो इस नाचीज़ को मोहब्बत सिखाया करता है।

6.
अब तेरे बिना जिंदगी गुजारना मुमकिन नही है,
अब और किसी को इस दिल में बसाना आसान नही है,
हम तो तेरे पास कब के चले आये होते सब कुछ छोड़ कर,
लेकिन तूने कभी हमे दिल से पुकारा ही नही है।

7.
मंजिल भी उसकी थी, रास्ता भी उसका था,
एक मैं ही अकेला था, बाकि सारा काफिला भी उसका था,
एक साथ चलने की सोच भी उसकी थी,
और बाद में रास्ता बदलने का फैसला भी उसी का था।

8.
अब मोहब्बत नही रही इस जमाने में,
क्योंकि लोग अब मोहब्बत नही मज़ाक किया करते है इस जमाने में।

9.
चिंगारी का ख़ौफ़ न दिया करो हमे,
हम अपने दिल में दरिया बहाय बैठे है,
अरे हम तो कब का जल गये होते इस आग में,
लेकिन हमतो खुद को आंसुओ में भिगोये बैठे है।

10.
कोई मिला ही नही हमे कभी हमारा बन कर,
वो मिला भी तो हमे सिर्फ किनारा बनकर,
हर ख्वाब बन कर टुटा है यहां,
अब बस इंतज़ार ही मिला है एक सहारा बन कर।

11.
हम जानते है आप जीते हो जमाने के लिए,
एक बार तो जीके देखो सिर्फ हमारे लिए,
इस नाचीज़ की दिल क्या चीज़ है,
हम तो जान भी देदेंगे आप को पाने के लिए।

12.
हम तो ख्वाबो की दुनिया में बस खोते गये,
होश तो था फिर भी मदहोश होते गये,
उस अजनबी चेहरे में क्या जादू था,
न जाने क्यों हम उसके होते गये।

13.
वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
मोहब्बत में प्रेमी कभी झुकता नही,
किसी की खुशियों के खातिर चुप है,
पर तू ये न समझना की मुझे दुःखता नही।

14.
हर पल साथ देने का वादा करते हैं तुझसे,
क्यों अपनापन इतना ज्यादा है तुझसे,
कभी ये मत सोचना भूल जायेंगे तुझे हम,
हर पल साथ निभाने का वादा है तुझसे।

15.
तेरा यूँ मेरे सपनो में आना ये तेरा कसूर था,
और तुझ से दिल लगाना ये मेरा कसूर था,
कोई आया था पल दो पल को जिंदगी में,
और सर अपना समझ लेना वो मेरा कसूर था।

16.
कितना दर्द है इस दिल में लेकिन हमे एहसास नही है,
कोई था बहुत खास पर वो पास नही है,
हमे उनके इश्क ने बर्बाद कर दिया,
और वो कहते है की ये कोई प्यार नही है।

17.
इस दिल में आग सी लग गई जब वो खफा हुए,
फर्क तो तब पड़ा जब वो जुदा हुए,
हमे वो वफ़ा करके तो कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये वो बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

18.
जब कोई ख्याल इस दिल से टकराता है,
तो दिल न चाहते हुए भी खामोश हो जाता है,
कोई सब कुछ कह कर भी कुछ नही कह पाता है,
और कोई बिना कुछ कह भी सब कुछ कह जाता है।

19.
गम कितना है हम आपको दिखा नही सकते है,
ज़ख्म कितने गहरे है ये आपको दिखा नही सकते है,
जरा हमारे इन आंसुओ को तो देख लो,
ये आंसू गिरे है कितने ये हम आपको गिना नही सकते है।

20.
अब तो हम दर्द से खेलना सीख गये है,
अब तो हम वेबफाई के साथ जीना सीख गये है,
क्या बताये यारो की कितना दिल टूटा है हमारा,
अब तो हम मौत से पहले कफ़न ओढ़ कर सोना सीख गये है।


1. ज़िन्दगी आपकी फूलों की तरह मुस्कुराए।
गम की हवा आपको छू भी ना पाय।
यूँ तो लाख आय मौसम पतझड़ के।
आपकी खुशी का एक फूल भी ना मुरझाये।

2.तुझे देख कर ये जहाँ रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहां आता है,
तू ही है मेरे इस दिल की धड़कन,
तेरे बिना ये जहां बेकार नज़र आता है।

3. इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।

4. आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।

5. प्यार से देख लो यू ही मर जायेंगे
हर सितम आजमाना जरूरी नहीं|


6. किसी के प्यार को पा लेना ही मोहब्बत नही होती
किसी के दूर रहने पर उसको पल पल याद करना भी मोहब्बत होती है

7. नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

8. हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

9. घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

10. खड़े-खड़े साहिल पर हमने शाम कर दी,
अपना दिल और दुनिया आप के नाम कर दी,
ये भी न सोचा कैसे गुज़रेगी ज़िंदगी,
बिना सोचे-समझे हर ख़ुशी आपके नाम कर दी।

11. कभी गम तो कभी ख़ुशी देखी,
हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी,
उनकी नाराज़गी को हम क्या समझें,
हमने तो खुद अपनी तकदीर की बेबसी देखी।

12. तेरे ख्वाबो को आँखो मे सजा रखा है
जिंदगी को यूँ ही रंगीन बना रखा है,
बड़ी बेदर्द हैं दुनिया की निगाहें यारा
उससे बचाकर एक आशियाना रखा है।

13. एक पल में ज़िन्दगी भर की उदासी दे गया,
वो जाते जाते कुछ फूल बासी दे गया,
नोच कर शाखों के तन से खुश्क पत्तों का लिबास,
ज़र्द मौसम, बाँझ रुत को बे-लिबासी दे गया।

14. हाथ छूटे भी तो... रिश्ते नहीं छूटा करते,
वक़्त की शाख से लम्हे नहीं टूटा करते।

15. बड़े अनमोल है ये खून के रिश्ते,
इनको तू बेकार न कर,
मेरा हिस्सा भी तू लेले मेरे भाई,
घर के आंगन में दीवार न कर।

16. कुछ रिश्ते ऊपर वाला बनाता है,
कुछ रिस्ते लोग बनाते हैं,
वो लोग बहुत ही खास होते हैं,
जो बिना रिश्ते के रिश्ता निभाते हैं।

17. रात बड़ी मुश्किल से खुद को सुलाया है मैंने,
अपनी आँखों को तेरे ख्वाब का लालच देकर।

18. इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और...
हम किसी और के हुए नही।

19. जब मिलो किसी से
तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते है
अक्सर सीने से लगाने वाले।

20. अब तुझसे शिकायत करना
मेरे हक मे नहीं,
क्योंकि तू आरजू मेरी थी
पर अमानत शायद किसी और की।

21. फलसफा समझो न असरारे सियासत समझो,
जिन्दगी सिर्फ हकीक़त है हकीक़त समझो,
जाने किस दिन हो हवायें भी नीलाम यहाँ,
आज तो साँस भी लेते हो ग़नीमत समझो।

22. बुलंदी का नशा सिमतों का जादू तोड़ देती है,
हवा उड़ते हुए पंछी के बाज़ू तोड़ देती है,
सियासी भेड़ियों थोड़ी बहुत गैरत ज़रूरी है,
तवायफ तक किसी मौके पे घुंघरू तोड़ देती है।

23. दूर बैठे रहोगे, पास न आओगे कभी !
ऐसे रूठोगे तो जान ले जाओगे कभी !
शोले बन जायेगें सभी फूल मेरे आंचल के !
तुम जो मोहब्बत की घटा बनके न छाओगे कभी !!

24. ज़िन्दगी में ना ज़ाने कौनसी बात "आख़री" होगी !
ना ज़ाने कौनसी रात "आख़री" होगी !
मिलते, जुलते, बातें करते रहो यार एक दूसरे से !
ना जाने कौनसी "मुलाक़ात" आख़री होगी !!

25. पानी से तस्वीर कहाँ बनती है !
ख्वाबों से तकदीरकहाँ बनती है !
किसी भी रिश्ते को सच्चे दिल से निभाओ !
ये जिंदगी फिर वापस कहाँ मिलती है !!

26. ज़रूरी तो नहीं के शायरी वो ही करे जो इश्क में हो
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है

27. प्यार तो जिंदगी का एक अफसाना है,
इसका अपना ही एक तराना है,
सबको मालूम है कि मिलेंगे सिर्फ आंसू
पर न जाने क्यों, दुनियां में हर कोई इसका दीवाना है.

28. अगर तुझसे इश्क न होता तो कोई बात न होती.
शिकायत सिर्फ इतनी है की तूने समझा नहीं मुझको .

29. मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये, जरूरी तो नही,
ये कुछ कम है कि बसा है मेरी साँसों में वो,
सामने हो मेरी आँखों के जरूरी तो नही |

30. तुझसे ही डरते हैं और तुम पर ही मरते हैं,
तुम ही जिंदगी हो हमारी क्योंकि,
तुम से ही हद से ज्यादा प्यार करते हैं..!!

31. कभी तुम भी लिखा करो;
 दो शब्द हमारे लिए..
हमें सिर्फ लिखना नहीं,
पढ़ना भी अच्छा लगता है!!

32. रिश्ते किसी से कुछ यूँ निभा लो
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो
इतना असर छोड़ दो किसी पर अपना
के हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो|

33.  तुम दूर हो मगर दिल में ये एहसास होता है
कोई है जो हर पल दिल के पास होता है
याद तो सब की आती है मगर
तुम्हारी याद का एहसास ही कुछ ख़ास होता है |

34.  ऐ दिल तू धड़कना बंद कर
जब जब तू धड़कता है तब तब उनकी याद आती है
वो तू खुश है अपनी दुनिआ में
जान तो पल पल हमारी जाती है|

35. कोई है जो दुआ करता है
अपनों मे मुझे भी गिना करता है
बोहत खुशनसीब समझते है खुद को हम
दूर रह कर भी जब कोई प्यार किया करता है|

36. ख़ामोश रात में सितारे नई होते
उदास आँखों में रंगीन नज़ारे नई होते
हम कभी ना करते याद आपको
अगर आप इतने प्यारे ना होते|

37. ऐ बारिश जरा थम के बरस
जब मेरा दोस्त आ जाये तो जम के बरस
पहले ना बरस के वो आ ना सके
फिर इतना बरस के वो जा ना सके|

38.  प्यार आ जाता है आँखें रोने से पहले
हर खवाब टूट जाता है सोने से पहले
इश्क़ है गुनाह ये समझ गये हम
काश कोई रोक लेता ये गुनाह होने से पहले|

39.  जान है मुझे ज़िंदगीं से प्यारी .
जान के लिए कर दू कुर्बान यारी
जान के लिए छोड़ दू यारी तुम्हारी .
पर तुमसे क्या छुपाना तुम ही तो हो जान हमारी|

40. जो पल पल जले वो रौशनी,
जो पल पल महके वो खुशबू,
जो पल पल धड़के वो दिल,
जो पल पल याद आये वो आप|

41.  पाने से खोने का मज़ा कुछ और है
बंद आँखों से सोने का मज़ा कुछ और है
आँसू बने लफ़ज़ और लफ़ज़ बनी जुबा
इस ग़ज़ल में किसी के होने का मज़ा कुछ और है|

42.  प्यार के रास्ते बेवफा हो नहीं सकते
हम आपसे खफा हो नहीं सकते
आप बेशक हमें भूल कर सो जाओ
मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते|

43. दिल के समुन्दर में एक गहराई है
उसी गहराई से तुम्हारी याद आई है
जिस दिन हम भूल जाये आपको
समझ लेना हमारी मोत आई है|

44.  किसी को फूलों में ना बसाओ
फूलों में सिर्फ सपने बस्ते है
अगर बसाना है तो दिल में बसाओ
क्युकी दिल में सिर्फ अपने बस्ते है|

45.  उस नज़र की तरफ मत देखो
जो तुम्हे देखना से इनकार करती है
दुनिया की इस महफ़िल में उस नज़र को देखो
जो आपका इंतज़ार करती है|

46.  उनकी यादो को प्यार करते है
लाखो जनम उन पर निसार करते है
अगर राह में मिले वो आपसे
तो कहना उनसे हम आज भी उनका इंतज़ार करते है|

47. ज़िन्दगी गुज़र जाए पर दोस्ती कम ना हों।
याद हमें रखना चाहें पास हम ना हों।
कयामत तक चकता रहे ये प्यारा सा सफर।
दुआ करे कि कभी ये रिश्ता खतम ना हो।

48. तारों में अकेले चांद जगमगाता है।
मुश्किलों में अकेले इंसान डगमगाता है।
काटों से मत घबराना मेरे दोस्त।
क्योंकि काटों में भी गुलाब मुस्कुराता है।

49. कभी रात में तारे गिन के देखना।
जितने तुम गिन पाए उतना तुम हमको याद करते हो।
ओर जितने तारे बच जाए उतना हम तुमको याद करते है।

50. हर नमी में तेरी कमी तो रहेगी।
आँखे कुछ नम तो रहेगी।
ज़िन्दगी को हम कितना भी सवांरेगे
हमेंशा आप जैसे दोस्त की कमी रहेगी ।

51. दोस्त का प्यार दुआ से कम नही होता।
दोस्त दूर हो फिर भी कोई गम नही होता।
प्यार में अक्सर कम हो जाती है दोस्ती ।
पर दोस्ती में प्यार कभी कम नही होता।

52. दिल से निकली बात दिल को छू जाती है।
ये अक्सर अनोखी बात रह जाती है।
कुछ लोग दोस्ती के मायने बदल देते है।
पर किसी की दोस्ती से दुनिया बदल जाती है।

53. आँखों से आँसू क्यों छलक जाते है।
तन्हाइयों में गम क्यों याद आते है।
आँसू पोछ कर कोई ये बता दे हमसे।
दूर रहने वाले अक्सर क्यों याद आते है।

54. ताज़ी हवा में फूलों की महक हो।
पहली किरण में चिड़ियो की चहक हो।
जब भी आप अपनी पल्खें खोलो।
उन पलखो में खुशियों की झलक हो।

55. इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।

56. मुरझाए फूल को खुश्बू देना कोई आपसे सीखे।
रूठे हुए को मनाना कोई आपसे सीखे।
दोस्त बनाना तो हर कोई जानता है।
दोस्ती निभाना कोई आपसे सीखे।

57. उगता हुआ सूरत रोशनी दे आपको।
खिला हुआ फ़ूल खुश्बू दे आपको।
हम तो खुशी देने के काबिल नहीं।
देने वाला हज़ार खुशियां दे आपको

58. दिल मे तुम्हारे अपनी कमी छोड़ जाएंगे।
आँखों मे इंतेज़ार की लकीर छोड़ जाएंगे।
याद रखना ढूंढ़ते रहोगे हमे।
दोस्ती की ऐसी कहानी छोड़ जाएंगे।

59. अजीब है महोब्बत का खेल,
जा मुझे नही खेलना,
रूठ कोई और जाता है
टूट कोई और जाता है।

60. कभी गम तो कभी ख़ुशी देखी,
हमने अक्सर मजबूरी और बेकसी देखी,
उनकी नाराज़गी को हम क्या समझें,
हमने तो खुद अपनी तकदीर की बेबसी देखी।

61. चाँद निकलेगा तो लोग दुआ मांगेंगे,
हम भी अपने मुकद्दर का लिखा मांगेंगे,
हम तलबगार नहीं दुनिया की दौलत के,
हम रब से सिर्फ आपकी वफ़ा मांगेंगे।

62. हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये,
हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये,
जो आपके बिना जी न सके एक पल,
उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये।

63. फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,
जैसे ये ज़िंदगी, ज़िंदगी नहीं, कोई इल्जाम है।

64. नफरत सी होने लगी है इस सफ़र से अब,
ज़िंदगी कहीं तो पहुँचा दे खत्म होने से पहले।

65. मंजिलें मुझे छोड़ गयी रास्तों ने संभाल लिया,
जिंदगी तेरी जरूरत नहीं मुझे हादसों ने पाल लिया।

66. थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं अपनी पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें, कुछ सपने, कुछ महकती यादें,
जीने का मैं इतना ही सामान बचा पाया हूँ।

67. आज तेरे लिए वक्त का इशारा है,
देखता ये जहां सारा है,
फिर भी तुझे रास्तों की तलाश है,
आज फिर तुझे मंज़िलो ने पुकारा है

68. जल को बर्फ़ में बदलने में वक्त लगता है,
सूरज को निकलने में वक्त लगता है,
किस्मत को तो हम बदल नही सकते,
लेकिन अपने हौसलो से किस्मत बदलने में वक्त लगता है।

69. ज़िन्दगी बहुत हसीन है,
कभी हंसाती है, तो कभी रुलाती है,
लेकिन जो ज़िन्दगी की भीड़ में खुश रहता है,
ज़िन्दगी उसी के आगे सिर झुकाती है।

70. बिना संघर्ष कोई महान नही होता,
बिना कुछ किये जय जय कार नही होता,
जब तक नहीं पड़ती हथोड़े की चोट,
तब तक कोई पत्थर भी लोगों के लिए भगवान नही होता।

71. शमा परवाने को जलाना सिखाती है,
शाम सूरज को ढलना सिखाती है,
मुसाफिर को ठोकरों से होती तो हैं तकलीफें,
लेकिन ठोकरें ही एक मुसाफिर को चलना सिखाती हैं।

72. परिंदा कहता है अपने पँखो को खोलकर, अभी तो पूरी उड़ान बाकी है,
अभी तो एक मुट्ठी ज़मीन ही ली है, अभी तो पूरा आसमान बाकी है।
लहरों को शांत समझ कर ये मत सोचना के उसमे रवानी नही है,
समुद्र में जितनी गहराई है उतना ही उसके ऊपर तूफान बाकी है।

73. अगर आपकी किस्मत लिख सकते हम,
तो हर खुशी आपके हिस्से में लिख देते हम,
जो मोड़ आपको आपकी मन्ज़िल दिलाये,
उस रुख को आपकी तरफ मोड़ देते हम।

74. जिंदगी बहुत खूबसूरत है, जिंदगी से प्यार करो,
अगर हो रात तो, सुबह का इंतजार करो,
वो पल भी आएगा जिसका तुझे इंतेज़ार है,
बस उस खुदा पर भरोसा और वक्त पर ऐतवार करो।

75. जिंदगी बहुत खूबसूरत है, जिंदगी से प्यार करो,
अगर हो रात तो, सुबह का इंतजार करो,
वो पल भी आएगा जिसका तुझे इंतेज़ार है,
बस उस खुदा पर भरोसा और वक्त पर ऐतवार करो।

76. जिंदगी में छांव है तो कभी धूप है,
ऐ जिंदगी न जाने तेरे कितने रूप है,
जिंदगी में हालात जो भी हों,
लेकिन जिंदगी में मुस्कुराना नही भूला करते हैं।

77. जिसमे उबाल हो ऐसा खून चाहिये,
जीत के खातिर ऐसा जुनून चाहिए,
ये आसमान भी आएगा ज़मीन पर,
बस इरादों में ऐसी गूंज होनी चाहिये।

78. पैसे को दिमाग मे नही जेब मे रखना चाहये,
रिश्तों को खुले में नही दिलों में रखना चाहिये।

79. इस दुनिया में कोई खुशियों की चाह में रोता है,
कोई गमो की पनाह में रोता है,
अजीब ज़िन्दगी का सिलसिला है,
कोई भरोसे के लिए रोता है,
कोई भरोसा करके रोता है।

80. वक्त की एक आदत बहुत अच्छी है,
जैसा भी हो गुजर जाता है,
और जीवन मे कितने भी कड़े इम्तेहान हो,
वो यादे बनके सीने में उतर जाता है।

81. जो गुज़र गया उसे याद मत करो,
मुक्कदर में जो लिखा है उसकी फ़रयाद मत करो,
मुक्कदर में जो लिखा है वो होकर रहेगा,
तुम कल के चक्कर में आज को बर्बाद न करो।

82. ज़िन्दगी में जब आप सही होतें हैं तो इसे कोई याद नही रखता,
और जिंदगी में जब आप गलत हो जाते है तो इसे कोई नही भूलता।

83. मैं मौसम नही हूँ जो पल में बदल जाऊँ,
मैं इस जमीन से दूर कहीं और ही निकल जाऊँ,
मैं उस पुराने जमाने का सिक्का हूँ मुझे फेंक न देना,
हो सकता है बुरे दिनों में मैं ही चल जाऊँ।

84. रो कर मुस्कुराने का मजा ही कुछ और आता है,
जिंदगी में कुछ खो कर पाने का मजा ही कुछ और आता है,
ज़िन्दगी में हार और जीत तो लगी ही रहती है,
लेकिन हार के जीतने का मजा ही कुछ और आता है।

85. कितने भी दलदल हों ज़िन्दगी में पैर जमाये ही रखना,
चाहे हाथ खाली हो ज़िन्दगी में लेकिन उसे उठाये ही रखना,
कौन कहता है छलनी में पानी रुक नही सकता,
अपना हौसला बर्फ़ जमने तक बनाये रखना।

86. हर ज़ुबा पे एक दिन तेरा ही नाम होगा,
हर कदम पे तेरे दुनिया का सलाम होगा,
हर मुसीबत का सामना करना तू डट कर,
तू देखना समय तेरा भी गुलाम होगा।

87. गम की अंधेरी रात में दिल को तू न बेकरार कर,
ऐ नादान ! सुबह ज़रूर आएगी,
तू सुबह तक का तो इंतेज़ार कर।

88. ए ज़िन्दगी तू मुझे उड़ना सिखा दे,
मुझे हालातों से लड़ना सिखा दे,
हर हाल में खुश रहना सिखा दे,
और हर हार से तू मुझे जीतना सिखा दे।

89. निगाहों में मन्ज़िले हैं,
सामने कठिन रास्ते हैं,
लेकिन मैं हर मुश्किल से उलझ गया,
और मैं सबसे आगे निकल गया।

90. हँसना हँसाना ये कोशिश है मेरी,
सबको खुश रखना चाहत है मेरी,
कोई याद करे या न करे,
हर किसी को याद करना आदत है मेरी।

91. मुस्कुराहट का कोई मोल नही होता है,
रिश्तों का कोई तोल नही होता है,
इंसान तो मिल जातें है हमे हर मोड़ पर,
लेकिन हर कोई आप की तरह अनमोल नही होता है।

92. रात नही ख्वाब बदलता है,
मन्जिल नही रास्ता बदलता है,
जज्बा रखो मन मेँ हर दम जीतने का,
क्योकि किस्मत बदले ना बदले पर,
जिन्दगी मेँ सबका वक्त जरुर बदलता है..

93. बिंदास मुस्कुराओ क्या ग़म हे,
ज़िन्दगी में टेंशन किसको कम हे,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम हे,
जिन्दगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम हैं..

94. नफ़रतें दिल से मिटाओ तो कोई बात बने ,
प्यार की शमएँ जलाओ तो कोई बात बने ,
आज इंसान ख़ुदा ख़ुद को समझ बैठा है ,
इस को इंसान बनाओ तो कोई बात बने..

95. वक़्त भी सिखाता है और गुरु भी ,
दोनों में फर्क सिर्फ इतना सा है ,
गुरु सीखा कर इम्तिहान लेता है ,
और वक़्त इम्तिहान लेकर सिखाता है..

96. वक्त से लड़कर जो नसीब बदल दे,
इन्सान वही जो अपनी तक़दीर बदल दे,
कल क्या होगा कभी मत सोचो,
क्या पता कल वक्त खुद अपनी तस्वीर बदल दे…

97. शुक्रिया ज़िन्दगी…जीने का हुनर सिखा दिया,
कैसे बदलते हैं लोग चंद कागज़ के टुकड़ो ने बता दिया,
अपने परायों की पहचान को आसान बना दिया,
शुक्रिया ऐ ज़िन्दगी जीने का हुनर सिखा दिया।

98. जिन्दगी की हर सुबह कुछ शर्ते लेके आती है,
और जिन्दगी की हर शाम कुछ तर्जुबे देके जाती है,

ठोकर ना लगा मुझे पत्थर नही हूँ मैं, हैरत से ना देख कोई मंज़र नही हूँ मैं,
उनकी नज़र में मेरी कदर कुछ भी नही, मगर उनसे पूछो जिन्हें हासिल नही हूँ मैं..

99. आँखों में पानी रखो, होंठो पे चिंगारी रखो,
जिंदा रहना है तो तरकीबें बहुत सारी रखो,
राह के पत्थर से बढ के, कुछ नहीं हैं मंजिलें,
रास्ते आवाज़ देते हैं, सफ़र जारी रखो..

100. चेहरे की हंसी से गम को भुला दो,
कम बोलो पर सब कुछ बता दो,
ख़ुद ना रूठो और सबको हंसा दो,
यही राज है जिन्दगी का,जियो और जीना सिखा दो..

Related Tags: Top 20 Good Shayari in Hindi 2019