Top 20 Tareef Shayari in hindi 2019 [Unique and attractive]



Tareef Shayari in hindi 2019 This is the best Tareef Shayari and we have the best collection so search and Like, share on social media and your friends and family like WhatsApp and Facebook Etc


 Tareef-Shayari-in-hindi-2019

 Tareef Shayari in hindi 2019 


1. घनी जुल्फों के साये में चमकता चाँद सा चेहरा,
तुझे देखूं तो कुछ रातें सुहानी याद आती हैं।

2. क़यामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर,
ना जाने हश्र क्या होगा अगर वो मुस्कुराये तो।

3. उतरा है मेरे दिल में कोई चाँद नगर से,
अब खौफ ना कोई अंधेरों के सफ़र से,
वो बात है तुझ में कोई तुझ सा नहीं है,
कि काश कोई देखे तुझे मेरी नजर से।

4. ऐ चाँद मत कर इतना गुरुर... तुझमें तो दाग है,
पर मेरे वजूद में जो चाँद सिमटा है वो बेदाग है।

5. उनकी तारीफ़ क्या पूछते हो उम्र सारी गुनाहों में गुजरी
अब शरीफ बन रहे है वो ऐसे जैसे गंगा नहाये हुए है

6. Yoo Taareeph Na Kiya Karo Meree Shayari Ki
Dil Toot Jaata Hai Mera Jab Tum Mere Dard Par Vaah-Vaah Karate Ho

7. Mil Jaenge Hamaari Bhi Taareef" Karane Vaale.
Koy Hamaari Maut Kee "Afavaah" To Phailao Yaaron

8. Kya Likhoon Teri Soorat - E - Taarreef Men , Mere Hamadam
Alphaaj Khatm Ho Gaye Hain, Teri Adayen Dekh-Dekh Ke

9. एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखू
पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये

10. ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूं
मौत भी हो जाती है और क़ातिल भी पकड़ा नही जाता

11. भी तारीफ करते हैं, मेरी शायरी की लेकिन
कभी कोई सुनता नहीं, मेरे अल्फाज़ो की सिसकियाँ.

12. तारीफ़ अपने आप की, करना फ़िज़ूल है,
ख़ुशबू तो ख़ुद ही बता देती है, कौन सा फ़ूल है

13. लोग भले ही मेरी शायरी की तारीफ न करे
खुशी दुगनी होती है जब उसे कॉपी पेस्ट में देखता हूं

14. तेरी तारीफ मेरी शायरी में जब हो जाएगी
चाँद की भी कदर कम हो जाएगी

15. कैसी थी वो रात कुछ कह सकता नहीं मैं
चाहूँ कहना तो बयां कर सकता नहीं मैं ,

16. दुल्हन बन के मेरी जब वो मेरी बाँहों में आयी थी
सेज सजी थी फूलों की पर उस ने महकाई थी

17. घूँघट में इक चाँद था और सिर्फ तन्हाई थी
आवाज़ दिल के धड़कने की भी फिर ज़ोर से आयी थी

18. प्यार से जो मैंने घूँघट चाँद पर से हटाया था
प्यार का रंग भी उतरकर उसके चेहरे पर आया था

19. बाँहों में ले कर उसको फिर लबो की लाली चुराई थी
उस सर्द रात में साँसे भी शोला बन कर टकराई थी

20. टिका बिंदी , कंगना , पायल सब ने शोर मचाया था
जब उसके शोख बदन को मैंने हाथ लगाया था ,

Related Tags: Tareef Shayari in hindi 2019