Top 100 William Shakespeare Status in English 2020 [Unique & Fresh]



William Shakespeare Status in English 2020:


Top 20 William Shakespeare Status in Hindi 2019

William Shakespeare Status in English 2020

1.
God has given you one face, and you make yourself another.

2.
Never play with the feelings of others, because you may win the game but the risk is that you will surely lose the person for a lifetime.

3.
We came into the world like brother and brother; And now let’s go hand in hand, not one before another.

4.
It is a wise father that knows his own child.

5.
I can no other answer make, but, thanks, and thanks.

6.
When a father gives to his son, both laugh; when a son gives to his father, both cry.

7.
There is one pain I often feel, which you will never know. It is caused by the absence of you.

8.
Young men love, then lie. Not truly in their hearts, but in their eyes.

9.
Thoughts are but dreams till their effects be tried.

10.
In thy face I see the map of honour, truth and loyalty.

11.
Of all base passions, fear is the most accursed.

12.
A grandma’s name is little less in love than is the doting title of a mother.

13.
Hell is empty and all the devils are here.

14.
To weep is to make less the depth of grief.

15.
Forbear to judge, for we are sinners all.

16.
Women’s weapon, water- drops.

17.
We know what we are, but know not what we may be.

18.
There is nothing either good or bad, but thinking makes it so.

19.
Anger is like A full- hot horse, who being allowed his way, Self- mettle tires him.

20.
Absence from those we love is self from self – a deadly banishment.

Top 20 William Shakespeare Status in Hindi 2020

  1. "महानता से बिलकुल ना डरें ! कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता हासिल करते हैं और कुछ लोगों में महानता समाहित होती है। "-विलियम शेक्सपीयर
  2. "मूर्ख हमेशा अपने आप को बुद्धिमान समझते हैं लेकिन बुद्धिमान लोग स्वयं को हमेशा मूर्ख ही समझते हैं।"- विलियम शेक्सपीयर
  3. "ये दुनिया एक रंगमंच है और सभी स्त्री और पुरुष केवल अदाकार; सबके प्रवेश और निकास का समय भी तय है; और एक व्यक्ति अपने समय अंतराल में अनेक किरदार निभाता है। ये किरदार ७ चरणों में निभाया जाता है।" -विलियम शेक्सपीयर
  4. "जब उसकी मृत्यु होगी, उसके शरीर को दुकड़ों में कर सितारों की तरह बिखेर देना ताकि वो स्वर्ग को ऐसे जगमगा सके की सारी दुनिया रात से प्रेम करने लगे और भड़कीले सूर्य की पूजा करना छोड़ दे।" -विलियम शेक्सपीयर
  5. "शब्द हवा की तरह ही आसानी से बहते हैं; वफादार मित्रों को पाना बेहद मुश्किल है।" -विलियम शेक्सपीयर
  6. "मेरी सहायता या उपहार समुद्र की तरह ही अथाह तथा अनंत है, और मेरा प्रेम भी। मैं जितना भी तुम्हे समर्पित करूँगा उतना ही हम दोनों के लिए मुझे मिलता जायेगा। " -विलियम शेक्सपीयर
  7. "अगर तुम प्रेम करते हो और तुम्हे कष्ट मिलता है, तो और प्रेम करो।
    अगर तुम और प्रेम करते हो और तुम्हे ज्यादा कष्ट मिलने लगता है तो और भी ज्यादा प्रेम करो।
    अगर तुम और भी ज्यादा प्रेम करते हो और फिर भी तुम्हे कष्ट मिलता है तो तबतक प्रेम करते रहो जबतक की कष्ट मिलना बंद न हो जाये।" -विलियम शेक्सपीयर
  8. दोष हमारे गृह - नक्षत्रों में नहीं है प्रिय ब्रूटस, बल्कि हममे है।-विलियम शेक्सपीयर
  9. जब वो बहादुर था तब मैंने उसका सम्मान किया, पर जब वो महत्त्वाकांक्षी हो गया तो मैंने उसे मार दिया।"-
  10. "एक छोटी सी मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है! इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छाई कुछ समय तक प्रकाशित रह पाती है।" -विलियम शेक्सपीयर
  11. "चन्द्रमा की कसम मत खाओ क्यूंकि हो हमेशा बदलता रहता है, क्यूंकि तुम्हारा प्रेम भी फिर बदल जायेगा" --विलियम शेक्सपीयर
  12. "ईर्ष्या से सावधान रहें क्यूंकि ये वो हरे आँखों वाला दैत्य है जो उसी शरीर का तिरस्कार करता है और धोखा देता है जिसपर वो पलता है।" -विलियम शेक्सपीयर
  13. जैसे शरारती बच्चों के लिए मक्खियाँ होती हैं,वैसे ही देवताओं के लिए हम होते हैं; वो अपने मनोरंजन के लिए हमें मारते हैं.
  14. "जिस तरह तुम अपने विचारों में महान रहे हो अपने कर्मों में भी महान बनो। " -विलियम शेक्सपीयर
  15. ये दुनिया एक रंगमंच है , और सभी पुरुष और स्त्रियाँ महज किरदार हैं: उनको आना और जाना होता है; और एक व्यक्ति अपने जीवन में कई किरदार निभाता है.
  16. "एक पुरानी कहावत है जो मुझपर भी लागू होती है: जो खेल आप खेल ही नहीं रहे हैं उसे आप हार नहीं सकते।" -विलियम शेक्सपीयर
  17. "बुद्धिमानी से धीरे धीरे आगे बढ़ो। जो जल्दीबाजी में गलती गरते हैं वो गिर जाते हैं।" -विलियम शेक्सपीयर

18 . एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है, लेकिन एक बुद्धिमान व्यक्ति खुद को मूर्ख समझता है.

  1. एक छोटी सी मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है! इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छा काम चमचमाता है.
  2. डरपोक अपनी मृत्यु से पहले कई बार मरते हैं; बहादुर मौत का स्वाद और कभी नहीं बस एक बार चखते हैं.
  3. महानता से घबराइये नहीं: कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता हांसिल करते हैं, और कुछ लोगों के ऊपर महानता थोप दी जाती है.
  4. लेकिन आदमी आदमी होता है; जो सबसे अच्छे होते हैं वो कई बार ये भूल जाते हैं.
  5. मछलियाँ पानी में रहती हैं, जैसे इंसान जमीन पे रहता है; बड़े वाले छोटे वालों को खा जाते हैं.
  6. अगर करना उतना ही आसान होता जितना की जानना की क्या करना अच्छा है, तो शवगृह गिरिजाघर होते , और गरीबो के झोंपड़े महल.
  7. समय के साथ जिससे हम अक्सर डरते हैं उससे नफरत करने लगते हैं.
  8. हमारी किस्मत सितारों में नहीं बल्कि हमारे अपने अन्दर है.
  9. सभी से प्रेम करो, कुछ पर विश्वास करो,किसी के साथ गलत मत करो.
  10. सच्चे प्यार का रास्ता कभी आसान नहीं होता.
  11. सबसे बढ़कर ज़रूरी है कि हम खुद से सच्चे रहे.
  12. प्रतिकूल परिस्थितियों की उपयोगिता मधुर होती है, जैसे कि वो मेंढक, बदसूरत और विषैला होने के बावजूद उसके सिर में अनमोल रत्न है.
  13. अपनी भाषा पर ज़रा ध्यान दीजिये अन्यथा आप अपने भाग्य खराब कर लेंगे.
  14. जब हम पैदा होते हैं तब हम रोते हैं कि हम मूर्खीं के इसे विशाल मंच पर आ गए.

William Shakespeare विलियम शेक्सपीयर

  1. नौकरानियां कुछ नहीं बस पति चाहती हैं,और जब वो उन्हें पा जाती हैं, तब उन्हें सब कुछ चाहिए होता है.
  2. मेरा मुकुट संतुष्टि है, ऐसा मुकुट जिसका राजा-महाराजा कभी-कभार ही आनंद लेते हैं.
  3. नाम में क्या रखा है? अगर हम गुलाब को कुछ और कहें तो भी उसकी सुगंध उतनी ही मधुर होगी.
  4. जब दुःख आता है तो एक अकेले जासूस की तरह नहीं आता, बल्कि पूरी बटालियन की तरह आता है.
  5. हम जानते हैं की हम क्या हैं,पर हम ये नहीं जानते की हम क्या हो सकते हैं.

William Shakespeare विलियम शेक्सपीयर

  1. प्रेम सबसे करो पर विश्वास कुछ लोगो पर ही करे व किसी को भी नुकसान न पहुंचाएं.
  2. अगर तुम और भी ज्यादा प्रेम करते हो और फिर भी तुम्हे कष्ट मिलता है तो तबतक प्रेम करते रहो जबतक की कष्ट मिलना बंद न हो जाये.
  3. मुर्ख खुद को हमेशा बुद्धिमान समझते हैं लेकिन बुद्धिमान लोग खुद को हमेशा मूर्ख ही समझते हैं.
  4. महानता से बिल्कुल भी न डरे. कुछ लोग महान पैदा होते हैं तो कुछ महानता हासिल करते हैं और कुछ लोगों में महानता समाहित होती है.
  5. मैं तुम्हे बुद्धिमता की लड़ाई के लिए ललकारता परन्तु मैं यह देख रहा हूँ की तुम निहत्थे हो.
  6. जिस तरह अपने विचारों से तुम महान हो उसी तरह अपने कर्मों में भी महान बनो.
  7. हम यह जानते हैं की हम क्या हैं लेकिन हम यह नहीं जानते की हम क्या बन सकते हैं.
  8. ईर्ष्या से सावधान रहें क्योंकि यह दैत्य उसी शरीर का तिरस्कार करता है और धोखा देता है जिस पर वो पलता है.
  9. जब वह बहादुर था तब मैंने उसका सम्मान किया पर जब वो महत्त्वाकांक्षी हो गया तो मैंने उसे मार दिया.
  10. कभी भी चन्द्रमा की कसम मत खाओ क्योंकि वो हमेशा बदलता रहता है और तुम्हारा प्रेम भी फिर बदल जायेगा
  11. यह पूरा विश्व एक रंगमंच है और हम सभी स्त्री – पुरुष सिर्फ पात्र हैं. हमारा प्रवेश और प्रस्थान होता है और हर व्यक्ति अपने जीवनकाल में कई किरदार निभाता है.
  12. एक छोटी सी मोमबत्ती का उजाला कितनी दूर तक जाता है उसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छाई कुछ समय तक प्रकाशित रह पाती है.
  13. एक पुरानी कहावत है जो मुझ पर भी लागू होती है, जो खेल आप नहीं खेल रहे हैं उसे आप हार नहीं सकते.
  14. जब हमारा जन्म होता है तब हम रोते हैं क्योंकि तब हम मूर्खों के इस विशाल रंगमंच पर आ जाते है.
  15. मेरी सहायता या उपहार अथाह समुद्र की तरह अनंत है और मेरा प्रेम भी. मैं जितना भी तुम्हे दूंगा उतना ही हम दोनों को मिलता जायेगा..
  16. सितारों के अन्दर इतनी शक्ति नहीं जो हमारे जीवन का फैसला कर सकें, बल्कि हमारा भाग्य खुद हमारे हाथों में है.
    William Shakespeare विलियम शेक्सपीयर
  17. शैतान अपने उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए वेदों का सहारा ले सकता हैं…..
    William Shakespeare विलियम शेक्सपीयर
  18. वे लोग प्रसन्न हैं जो अपने ऊपर लगे कलंक को जानकर उस कलंक को मिटाने में लग जाते हैं.
  19. छोटी सी एक मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है. इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छाई कुछ समय तक ही प्रकाशमान रह पाती है..
  20. जब एक पिता अपने पुत्र को कुछ देता है तो दोनों हँसते हैं, लेकिन जब पुत्र अपने पिता को कुछ देता है तो दोनों रोते हैं…..
  21. ये संसार एक रंगमंच की तरह है, और यहाँ सभी स्त्री-पुरुष मात्र कलाकार की तरह हैं, उनका आना और जाना होता है, और एक व्यक्ति अपने पूरी ज़िन्दगी में कई किरदारों को निभाता है…
  22. डरपोक व्यक्ति अपनी मौत से पहले कई बार मरते हैं, लेकिन एक साहसी व्यक्ति मौत का स्वाद बस एक ही बार चखता हैं…
  23. हमेशा ईर्ष्या से सावधान रहिये क्यूंकि ये वो दैत्य है जो उसी शरीर का तिरस्कार करता है और धोखा देता है जिस पर वो पलता है..
  24. जिस तरह मछलियाँ पानी में रहती हैं, और अपनी भूख मिटने के लिए छोटी मछलियों को खा जाती हैं उसी तरह इंसान जमीन पे रहता है; बड़े वाले छोटे वालों को खा जाते हैं….
  25. जिस तरह शरारती बच्चों के लिए मक्खियाँ होती हैं और वो उन्हें मरता हैं,वैसे ही हम ईश्वर के लिए हम होते हैं; वो भी हमें अपने मनोरंजन के लिए मारते हैं…
  26. तुम अगर मुझसे मोहब्बत करोगे या नफरत दोनों मेरे पक्ष में ही है. अगर तुम मुझसे मोहब्बत करते हो तो मैं तुम्हारे दिल में रहूँगा, और अगर नफरत करते हो तो भी मैं तुम्हारे दिमाग में रहूँगा..
  27. महानता से आप कभी भी घबराइये नहीं: कुछ लोग तो महान पैदा होते हैं, कुछ महानता को अपने दम पर हांसिल करते हैं, और कुछ लोगों के ऊपर महानता को थोप दी जाती है.
  28. बुद्धिमानी से और धीरे. जो तेजी से दौड़ते हैं वो लड़खड़ा जाते हैं.
  29. मछलियाँ पानी में रहती हैं, जैसे इंसान जमीन पे रहता है; बड़े वाले छोटे वालों को खा जाते हैं.
  30. ये दुनिया एक रंगमंच है , और सभी पुरुष और स्त्रियाँ महज किरदार हैं: उनको आना और जाना होता है; और एक व्यक्ति अपने जीवन में कई किरदार निभाता है.
  31. अगर हर काम करना उतना ही आसान होता जितना की जानना की क्या करना अच्छा है, तो ना शवगृह होते ना ही गिरिजाघर होते , और ना ही गरीबो के झोंपड़े महल…
  32. नाम में क्या रखा है? अगर हम गुलाब को कुछ और कहें तो भी उसकी सुगंध उतनी ही मधुर होगी.
  33. जब एक पिता अपने पुत्र को देता है तो दोनों हँसते हैं; जब एक पुत्र पिता को देता है तो दोनों रोते हैं.
  34. भगवान ने तुम्हे एक चेहरा दिया है, और तुम अपने लिए एक नया बना लेते हो.
  35. महानता से घबराइये नहीं: कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता हांसिल करते हैं, और कुछ लोगों के ऊपर महानता थोप दी जाती है.
  36. जैसे शरारती बच्चों के लिए मक्खियाँ होती हैं,वैसे ही देवताओं के लिए हम होते हैं; वो अपने मनोरंजन के लिए हमें मारते हैं.
  37. एक छोटी सी मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है! इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छा काम चमचमाता है.
  38. एक मूर्ख खुद को बुद्धिमान समझता है, लेकिन एक बुद्धिमान व्यक्ति खुद को मूर्ख समझता है.
  39. मेरा मुकुट संतुष्टि है, ऐसा मुकुट जिसका राजा-महाराजा कभी-कभार ही आनंद लेते हैं
  40. नौकरानियां कुछ नहीं बस पति चाहती हैं, और जब वो उन्हें पा जाती हैं, तब उन्हें सब कुछ चाहिए होता है.
  41. अगर करना उतना ही आसान होता जितना की जानना की क्या करना अच्छा है, तो शवगृह गिरिजाघर होते , और गरीबो के झोंपड़े महल
  42. डरपोक अपनी मृत्यु से पहले कई बार मरते हैं; बहादुर मौत का स्वाद और कभी नहीं बस एक बार चखते हैं.
  43. लेकिन आदमी आदमी होता है; जो सबसे अच्छे होते हैं वो कई बार ये भूल जाते हैं.
  44. प्रतिकूल परिस्थितियों की उपयोगिता मधुर होती है, जैसे कि वो मेंढक, बदसूरत और विषैला होने के बावजूद उसके सिर में अनमोल रत्न है.
  45. कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं होता बस सोच उसे ऐसा बनाती है.
  46. "मूर्ख हमेशा अपने आप को बुद्धिमान समझते हैं लेकिन बुद्धिमान लोग स्वयं को हमेशा मूर्ख ही समझते हैं।"- विलियम शेक्सपीयर
  47. "महानता से बिलकुल ना डरें ! कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता हासिल करते हैं और कुछ लोगों में महानता समाहित होती है। "-विलियम शेक्सपीयर
  48. "हमारा भाग्य सितारों और ग्रहों के बस में नहीं है बल्कि हमारे बस में है।" -विलियम शेक्सपीयर
  49. "जब उसकी मृत्यु होगी, उसके शरीर को दुकड़ों में कर सितारों की तरह बिखेर देना ताकि वो स्वर्ग को ऐसे जगमगा सके की सारी दुनिया रात से प्रेम करने लगे और भड़कीले सूर्य की पूजा करना छोड़ दे।" -विलियम शेक्सपीयर
  50. "प्रेम सबसे करें, विश्वास कुछ पर करें और किसी को भी नुकसान न पहुंचाएं।"-विलियम शेक्सपीयर
  51. "हम जानते हैं की हम क्या हैं, लेकिन ये नहीं जानते की हम क्या बन सकते हैं।" -विलियम शेक्सपीयर
  52. "ये दुनिया एक रंगमंच है और सभी स्त्री और पुरुष केवल अदाकार; सबके प्रवेश और निकास का समय भी तय है; और एक व्यक्ति अपने समय अंतराल में अनेक किरदार निभाता है। ये किरदार ७ चरणों में निभाया जाता है।" -विलियम शेक्सपीयर
  53. "अगर तुम प्रेम करते हो और तुम्हे कष्ट मिलता है, तो और प्रेम करो।
    अगर तुम और प्रेम करते हो और तुम्हे ज्यादा कष्ट मिलने लगता है तो और भी ज्यादा प्रेम करो।
    अगर तुम और भी ज्यादा प्रेम करते हो और फिर भी तुम्हे कष्ट मिलता है तो तबतक प्रेम करते रहो जबतक की कष्ट मिलना बंद न हो जाये।" -विलियम शेक्सपीयर
  54. " मैं तुम्हे बुद्धिमता की लड़ाई के लिए ललकारता लेकिन मैं देख रहा हूँ की तुम निहत्थे हो।" -विलियम शेक्सपीयर
  55. "जब वो बहादुर था तब मैंने उसका सम्मान किया, पर जब वो महत्त्वाकांक्षी हो गया तो मैंने उसे मार दिया।"-
  56. "शब्द हवा की तरह ही आसानी से बहते हैं; वफादार मित्रों को पाना बेहद मुश्किल है।" -विलियम शेक्सपीयर
  57. "वे लोग खुश हैं जो अपने ऊपर लगे कलंक को जानकर उसे हटाने में लग जाते हैं।" -विलियम शेक्सपीयर
  58. "मेरी सहायता या उपहार समुद्र की तरह ही अथाह तथा अनंत है, और मेरा प्रेम भी। मैं जितना भी तुम्हे समर्पित करूँगा उतना ही हम दोनों के लिए मुझे मिलता जायेगा। " -विलियम शेक्सपीयर
  59. "ईर्ष्या से सावधान रहें क्यूंकि ये वो हरे आँखों वाला दैत्य है जो उसी शरीर का तिरस्कार करता है और धोखा देता है जिसपर वो पलता है।" -विलियम शेक्सपीयर
  60. "एक छोटी सी मोमबत्ती का प्रकाश कितनी दूर तक जाता है! इसी तरह इस बुरी दुनिया में एक अच्छाई कुछ समय तक प्रकाशित रह पाती है।" -विलियम शेक्सपीयर
  61. "एक पुरानी कहावत है जो मुझपर भी लागू होती है: जो खेल आप खेल ही नहीं रहे हैं उसे आप हार नहीं सकते।" -विलियम शेक्सपीयर
  62. "चन्द्रमा की कसम मत खाओ क्यूंकि हो हमेशा बदलता रहता है, क्यूंकि तुम्हारा प्रेम भी फिर बदल जायेगा" --विलियम शेक्सपीयर
  63. हम यह जानते हैं की हम क्या हैं लेकिन हम यह नहीं जानते की हम क्या बन सकते हैं.

Related Tags: William Shakespeare Status in English 2020


Related Post